वार्ड बॉय ने संक्रमित मरीज की ऑक्सीजन मशीन निकाली, बेटे के सामने तड़प-तड़पकर मौत

शिवपुरीः मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल में भर्ती संक्रमित कोरोना मरीज की ऑक्सीजन मशीन वार्ड बॉय ने हटा दी। ऑक्सीजन की कमी के चलते उन्होंने तड़प-तड़पकर बेटे के सामने ही बिस्तर पर दम तोड़ दिया। इससे पहले ऑक्सीजन मास्क को मुंह से दबाकर ऑक्सीजन लेने की काेशिश करते रहे। उन्हें क्या पता था कि ऑक्सीजन देने वाली मशीन (सिलेंडर) ही नहीं है। वे अपना सिर घुटनों के बीच फंसाते तो कभी सिर पटकते रहे। 9 घंटे तक न तो डॉक्टर आए और न ही कोई स्टाफ। बाद में बेटा पहुंचा तो उसने तड़पते पिता को आईसीयू में ले जाने की काेशिश की, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। यह पूरी घटना कोविड वार्ड में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

घटना के बाद परिजन के हंगामे और आरोपों के बीच अस्पताल के अधीक्षक डॉ केबी वर्मा ने कहा कि मरीज की ऑक्सीजन नहीं हटाई गई। उनकी हालत खराब थी, इसलिए उन्हें बचाया नहीं जा सका। परिजन नहीं माने और कोविड वार्ड के सीसीटीवी फुटेज निकलवाने पर अड़ गए।

फुटेज निकलवाए गए तो पोर्टेबल ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हटाते हुए वार्ड बॉय दिखाई दिया। इसके बाद मेडिकल कॉलेज के डीन ने तर्क दिया कि मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत ही नहीं थी, इसलिए नर्स के कहने पर वार्ड बॉय ने दूसरे मरीज के लिए ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर निकाल लिया। अस्पताल प्रबंधन के इन्हीं दो अलग-अलग तर्कों से मामला न केवल संदिग्ध हो गया है बल्कि जिम्मेदारों की मंशा पर भी सवाल खड़े हो गए। हालांकि बाद में मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ अक्षय निगम ने पूरे मामले की जांच के लिए टीम गठित करने के आदेश दिए हैं।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर