सावधान! अब अगर ये लक्षण भी दिखें तो तुरंत कराएं टेस्ट, हो सकता है कोरोना संक्रमण

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर ने भारत में पिछले साल के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। रोजाना 1 लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं और सैकड़ों लोगों की मौत भी हो रही है। ऐसे में खुद को संक्रमण से बचाने के लिए आपके पास जो एक मात्र उपाय है वह है सावधानी बरतना, लेकिन इसके अलावा एक और काम है जो सभी लोगों को करना चाहिए वह है- अपने लक्षणों पर नजर रखना। म्यूटेशन की वजह से हर थोड़े-थोड़े दिन में कोरोना वायरस का रूप बदल रहा है जिस वजह से उसके लक्षणों में भी बदलाव देखने को मिल रहा है।
कोरोना इंफेक्शन के लक्षणों में बदलाव
एक रिपोर्ट के मुताबिक, डॉक्टर भी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान इंफेक्शन के लक्षणों में हुए बदलाव की बात कह रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से बड़ी संख्या में ऐसे लोगों में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो रही है, जिन्हें न बुखार आया और ना ही सर्दी-जुकाम हुआ। ये लोग तो बदन दर्द, सिर दर्द या पेट दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टर के पास पहुंचे और जब उनका आरटीपीसीआर टेस्ट हुआ तो पता चला कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हैं।
पेट दर्द, बदन दर्द जैसे लक्षणों को इग्नोर न करें
डॉक्टरों की मानें तो पेट में दर्द, उल्टी-दस्त, बदन दर्द की शिकायत लेकर आने वाले करीब 40 प्रतिशत मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। ज्यादातर लोगों को अब तक यही लगता है कि सर्दी-खांसी, जुकाम और बुखार ही कोरोना के लक्षण हैं। इसलिए अगर उन्हें पेट दर्द, सिरदर्द या बदन दर्द की समस्या होती है तो वे डॉक्टर के पास जाने की बजाए घर पर ही घरेलू नुस्खों से इलाज करते रहते हैं, लेकिन जब काफी समय तक बीमारी ठीक नहीं होती तब वे डॉक्टर के पास जाते हैं और तब तक वायरस शरीर को काफी नुकसान पहुंचा देता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

जनता ने देखा है मेरा काम, अब कराएंगी मेरी हैट्रिक : सुजीत

सोनू दूबे बोले, भाजपा की हवा यहां नहीं, विधाननगर में सिर्फ विकास बोलता है कोलकाता : विधाननगर विधानसभा में लगातार दो बार अपने काम के बल कर आगे पढ़ें »

पति का बनाया सुसाइड वीडियो, घरवालों को मिली लड़के की लाश

बाली के बादामतल्ला इलाके की घटना, शिकायत दर्ज मृतक के परिवारवालों ने लगाया पत्नी पर सुनियोजित मर्डर का आरोप हावड़ा : बाली के बादामतल्ला में एक महिला आगे पढ़ें »

ऊपर