महाराष्ट्र में लॉकडाउन शुरू : दो घंटे में निपटानी होंगी शादियां

नियम तोड़ने पर 50 हजार का जुर्माना

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के केस कम नहीं हो रहे थे, इसलिए राज्य सरकार आज रात 8 बजे से लॉकडाउन लगा दिया है। हालांकि, सरकार ने इसे ‘ब्रेक द चेन’ का नाम दिया है। इसके तहत बिना किसी जरूरी वजह घर से बाहर नहीं निकल सकेंगे। आम आदमी के लोकल और मेट्रो ट्रेन में सफर पर पाबंदी लगा दी गई है। सरकारी ऑफिसेज में 15% कर्मचारियों की ही मौजूदगी रहेगी। वहीं शादी का कार्यक्रम दो घंटे में पूरा करना होगा और उसमें भी 25 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकेंगे। ये आदेश न मानने पर 5,000 से 50,000 रुपए तक का जुर्माना देना होगा। सरकार के ये आदेश गुरुवार रात 8 बजे से लागू होंगे। नए आदेश में वाहनों के एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। हालांकि, इमरजेंसी में अधिकारियों की मंजूरी से ट्रांसपोर्टेशन किया जा सकता है।
राज्य में लगने जा रहे लॉकडाउन के नियम
* केंद्रीय और राज्य सरकार के ऑफिस 15% कर्मचारियों की क्षमता से चलाए जाएंगे। पहले ये 50% कर्मचारियों के साथ चल रहे थे।
* अगर मंत्रालय या फिर केंद्रीय सरकारी दफ्तर ज्यादा अटेंडेंस के साथ चलाना है तो उसके लिए महाराष्ट्र स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के CEO से परमिशन लेनी होगी।
* शादी समारोह से जुड़े नियम तोड़ने पर 50,000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।
* प्राइवेट बसें 50% कैपेसिटी के साथ चलाई जा सकती हैं। इस दौरान कोई भी यात्री खड़ा होकर सफर नहीं करेगा। ये बसें 1 जिले से दूसरे जिले और एक शहर से दूसरे शहर में नहीं चलेंगी।
* एक जिले से दूसरे जिले में बस चलाने के लिए लोकल अथॉरिटी को जानकारी देनी होगी और जो भी यात्री एक जिले से दूसरे जिले में जाएगा तो उसके हाथ पर 14 दिनों का क्वारैंटाइन का स्टांप लगाया जाएगा। * हालांकि, लोकल अथॉरिटी को ये अधिकार दिया गया है कि क्वारैंटाइन का स्टांप लगाने का फैसला वे खुद ले सकें।
* लोकल ट्रेन, मोनो और मेट्रो का इस्तेमाल सेंट्रल गवर्नमेंट, स्टेट गवर्नमेंट और लोकल अथॉरिटी के स्टाफ के साथ-साथ डॉक्टर और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही कर सकते हैं।
* स्टेट और लोकल अथॉरिटी की बसें 50% क्षमता में ही चलाई जा सकती है, इनमें कोई भी यात्री खड़ा नहीं रहेगा।
* लोकल ट्रेन का मेडिकल इमरजेंसी के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। जिस व्यक्ति को मेडिकल इमरजेंसी है उसके साथ अटेंडेंट को भी परमिशन दी जा सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीबीआई कोर्ट में सुनवाई पूरी, ममता बनर्जी बोलीं- अब अदालत में ही होगा फैसला

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की राजनीति में एक बार फिर उथल-पुथल शुरू हो गई है। सीबीआई की ओर से टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस) के दो मंत्रियों आगे पढ़ें »

मुंबई में 114 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चली आंधी, एयरपोर्ट छह बजे तक बंद

नई दिल्ली : देश के दक्षिण पश्चिम राज्यों में चक्रवाती तूफान ताउते का खतरा मंडरा रहा है। अब ये तूफान गुजरात की ओर से बढ़ आगे पढ़ें »

ऊपर