आठ राज्यों में कोरोना का कहर, महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित

नई दिल्ली : देश में कोरोनावायरस का प्रकोप तेजी से फैल रहा रहा है। लगातार नए मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। इस बीच चौंकाने वाले आकड़े सामने आए हैं, जहां कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र है। देश में 10 ऐसे जिले हैं जिनमें कोरोना के कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 50 फीसदी है। इनमें सबसे ज्यादा जिले महाराष्ट्र के शामिल हैं। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश के दस जिलों में पुणे, मुंबई, नागपुर, ठाणे, नाशिक, बेंगलुरु अर्बन, औरंगाबाद, दिल्ली, अहमदनगर और नांदेड़ शामिल हैं। इन जिलों में कोरोना के कुल सक्रिय मामलों के 50 फीसदी केस रिपोर्ट किए गए हैं। इसके अलावा देश के 8 राज्यों में हर रोज 81.42 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं। इन 8 राज्यों में महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, दिल्ली, तमिलनाडु, पंजाब और मध्य प्रदेश शामिल है। भारत में शनिवार को कोविड-19 के 89,129 नए मामले दर्ज किए गए जो करीब साढ़े छह महीने में संक्रमण के एक दिन में आए सर्वाधिक मामले हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1.23 करोड़ हो गए हैं। एक दिन में इस महामारी से 714 लोगों की मृत्यु हो जाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,64,110 हो गई है। कोविड-19 से एक दिन में मरने वाले लोगों की 21 अक्टूबर के बाद से यह सबसे अधिक संख्या है। पिछले साल 20 सितंबर के बाद से शनिवार को आए संक्रमण के नए मामले सबसे अधिक हैं तब 24 घंटे में 92,605 नए मामले आए थे।
देश में स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 93.36 प्रतिशत हुई
आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के साथ देश में इस बीमारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में भी लगातार 24वें दिन वृद्धि दर्ज की गई है। अब भी 6,58,909 लोग इस बीमारी का इलाज करा रहे है जो संक्रमण के कुल मामलों का 5.32 प्रतिशत है। स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 93.36 प्रतिशत हो गई है। देश में इलाज करा रहे संक्रमितों की सबसे कम संख्या 12 फरवरी को थी जब 1,35,926 लोग उपचाराधीन थे और यह संक्रमण के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत था।
देश में मृत्यु दर गिरकर 1.32 प्रतिशत हुई
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,15,69,241 हो गई है जबकि मृत्यु दर गिरकर 1.32 प्रतिशत हो गई है। कोरोनावायरस के एक दिन में आने वाले सबसे अधिक मामले पिछले साल सितंबर में आए थे जब 17 सितंबर को संक्रमण के 97,894 मामले आए जिसके बाद भारत में संक्रमण के मामले धीरे-धीरे घटने लगे। भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विवाद : सुशांत सिंह राजपूत की बायोपिक पर प्रतिबंध की मांग, दिल्ली हाईकोर्ट ने मेकर्स को भेजा नोटिस

मुबंई : दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के जीवन पर आधारित बायोपिक बनाने वाले निर्माताओं को दिल्ली हाई कोर्ट ने नोटिस जारी कर दिया है। आगे पढ़ें »

झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक कंप्लीट लॉकडाउन

रांची: झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच सीएम हेमंत सोरेन ने आज मंगलवार को सीएम आवास में बैठक कर बड़ा फैसला लिया है। आगे पढ़ें »

ऊपर