‘कोरोना से बचाने धरती पर आईं दो परियां’

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी ने पिछले करीब डेढ़ साल से दुनियाभर में प्रकोप फैलाया हुआ है। दुनियाभर के वैज्ञानिक इस वायरस को मात देने के लिए वैक्सीन बनाने में जुटे हैं, एक्सपर्ट्स बार-बार मास्क पहनने, हाथ धोने या सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की दुहाई दे रहे हैं लेकिन भारत के कुछ इलाके ऐसे हैं, जहां इन सब वैज्ञानिक मान्यताओं पर अंधविश्वास भारी पड़ रहा है।
बार-बार ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं, जहां पर लोगों को वैक्सीन या किसी इलाज से ज्यादा अपनी मान्यताओं पर भरोसा है। और ऐसा करके खुद के साथ-साथ दूसरे लोगों को भी संकट में डालने की तैयारी कर रहे हैं।
कोरोना भगाने आईं परियां
मध्य प्रदेश के राजगढ़ में ही एक अफवाह के चलते सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ गईं। राजगढ़ में अनलॉक होते ही परियों के पानी से कोरोना ठीक होने की अफवाह उड़ते ही मंदिर के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। भीड़ में महिलाओं और पुरूष की बड़ी संख्या थी, ये सभी सोशल डिस्टेसिंग का पालन न करते हुए अंधविश्वास के चलते घरों से बाहर निकल आए।
यहां चाटूखेड़ा गांव में अफवाह फैली की दो महिलाओं के शरीर में देवपरियां आ गई हैं। इन परियों से जो जल का छींटा लेगा, उसे कोरोना नहीं होगा। बस अफवाह फैलने की देरी थी और हजारों की संख्या में लोग यहां आने लगे और इसी का पालन करने लगे। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो भीड़ को हटाया और बाद में महिलाओं पर एफआईआर दर्ज की गई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बिना कसरत मक्‍खन की तरह पिघलेगी चर्बी, 5 दिनों तक फॉलो करें पाइनएप्पल

कोलकाता : लॉकडाउन के बाद कई लोग इसी बात से परेशान हैं, कि उनका वजन बहुत बढ़ गया है। कई कोशिशों के बाद भी कम आगे पढ़ें »

फादर्स डे पर अपने पिता को ऐसे बतायें मन की बात!

कोलकाताः  माता-पिता हमारे जन्म का आधार होते हैं लिहाजा किसी व्यक्ति के लिए मां-पिता की अहमियत जीवन में सबसे बड़ी होती है। कोई भी संतान पूरी आगे पढ़ें »

ऊपर