1 मई से 18+ उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन पर ग्रहण

राज्यों के पास कोरोना वैक्सीन का स्टॉक नहीं
नई दिल्ली : कोरोना के प्रकोप को मात देने के लिए वैक्सीनेशन का अभियान जारी है। एक मई से इस अभियान को नई रफ्तार मिलने जा रही है। एक मई से 18 साल से अधिक उम्र वाले हर व्यक्ति के लिए वैक्सीनेशन ओपन हो जाएगा। लेकिन इस मिशन पर ग्रहण लगता दिख रहा है, क्योंकि कई राज्य सरकारें कह चुकी हैं कि उनके पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं। ऐसे में हर जगह वैक्सीनेशन होना मुश्किल है। वहीं, केंद्र सरकार का कहना है कि राज्य सरकारों के पास एक करोड़ से अधिक वैक्सीन उपलब्ध हैं। 1 मई से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन के नए चरण को लेकर केंद्र सरकार का कहना है कि राज्य, केंद्रशासित प्रदेशों के पास अभी 1 करोड़ वैक्सीन बची हैं। जबकि अगले तीन दिनों में 80 लाख डोज़ और भी पहुंच रही हैं। भारत सरकार ने अभी तक राज्यों को 15.65 करोड़ वैक्सीन मुफ्त में उपलब्ध करवाई हैं। केंद्र सरकार के मुताबिक, अभी तक राज्यों ने कुल 14.64 करोड़ डोज़ का इस्तेमाल किया है। ऐसे में एक करोड़ डोज बची हैं और 80 लाख से ज्यादा डोज अगले तीन दिन में राज्यों को मिल जाएंगी।
वैक्सीन पर केंद्र का राज्यों को ये निर्देश
वैक्सीनेशन को लेकर केंद्र सरकार की ओर से राज्यों को चिट्ठी लिखी गई है। इसमें केंद्र ने कहा है कि वैक्सीन के स्टॉक का इस्तेमाल इस तरह से किया जाए, ताकि 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन की नई सप्लाई मिल सके। जो सप्लाई सीधे राज्यों को मिल रही है, उसका इस्तेमाल 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए किया जाए। केंद्र का कहना है कि वैक्सीन निर्माताओं की ओर से आधी सप्लाई केंद्र को दी जाएगी, जो राज्यों में केंद्र द्वारा ही बांटी जाएगी। ऐसे में केंद्र की ओर से जो सप्लाई राज्यों को मिल रही है, उसका इस्तेमाल 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए किया जाए, जैसा अबतक हो रहा है।
कई राज्यों ने गिनाई अपनी परेशानी
महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान, झारखंड, ओडिशा जैसे कई राज्यों ने वैक्सीन की कमी का मसला उठाया है, वहीं कुछ जगहों पर वैक्सीनेशन रोकना भी पड़ा है। वैक्सीनेशन के नए चरण को लेकर राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा का कहना है कि हमारे राज्य में 18-45 की उम्र के बीच कुल 3.25 करोड़ लोग हैं, ऐसे में सात करोड़ वैक्सीन डोज की जरूरत है। हमारी सरकार अभी तक 3.75 करोड़ वैक्सीन बुक कर चुके हैं, लेकिन सीरम इंस्टीट्यूट का कहना है कि वो 15 मई से पहले नहीं दे सकते हैं। ऐसे में हम वैक्सीनेशन कैसे शुरू करें।
1 मई से शुरू हो रहा है महाभियान
आपको बता दें कि अभी तक भारत में करीब 15 करोड़ वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं, हर दिन औसतन 30 लाख डोज़ लगाई जा रही हैं। लेकिन एक मई से इसकी रफ्तार बढ़ने की उम्मीद है। 18 साल से अधिक उम्र वाले सभी लोग अब वैक्सीन लगवा पाएंगे। करीब दो दर्जन राज्यों ने अपने यहां वैक्सीन को मुफ्त लगाने का ऐलान भी कर दिया है। बुधवार शाम चार बजे से कोविन के पॉर्टल या आरोग्यु सेतु ऐप पर कोई भी व्यक्ति वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेगा। रजिस्ट्रेशन करने के बाद उस व्यक्ति को वैक्सीनेशन की तारीख, जगह और अस्पताल का नाम पता चल जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना आ रहे हैं सैकड़ों शव, चरमरा रही है श्मशान घाटों की व्यवस्था

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर का प्रकाेप कुछ इस कदर बढ़ा है कि श्मशान घाटों में रोंगटे खड़े करने वाली तस्वीरें देखने को आगे पढ़ें »

ट्रैफिक गार्ड के ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का मरम्मत कराएगी पुलिस

कोविड के खिलाफ जंग में लालबाजार ने कसी कमर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर के दौरान शहरवासियों की हालत खराब है। अस्पताल में बेड आगे पढ़ें »

ऊपर