संक्रमित हो चुके व्यक्ति को 90 दिनों में फिर हो रहा कोरोना, लेकिन लक्षण नहीं दिख रहे

नई दिल्ली: देश में भीषण गर्मी के बीच कोरोना वायरस संक्रमण भी जोर पकड़ रहा है। राजधानी दिल्ली में जहां रोजाना 1000 से ऊपर केस सामने आ रहे हैं वहीं भारत में भी दैनिक मामलों में इजाफा हो रहा है। इस बीच एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि जो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं उन्हें 90 दिनों के भीतर दोबारा संक्रमण हो रहा है। यह स्टडी सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसीपी) संस्था की तरफ से की गई है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने हाल ही में चार राज्यों से 10 मरीजों को अपनी स्टडी के लिए चुना जो 90 दिनों के भीतर डेल्टा या ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित हो चुके हों। उन मरीजों में एक मरीज को संक्रमण के 6 से 10 हफ्ते पहले कोरोना की वैक्सीन लग चुकी थी। वहीं, बाकी दो मरीजों की बात करें तो उन्होंने संक्रमण के बीच वैक्सीन की एक डोज ली थी। बचे सात मरीज जिसमें ज्यादातर 18 साल से कम उम्र के बच्चे थे उन्होंने कोरोना की एक भी डोज नहीं ली थी।
स्टडी में आगे पाया गया कि पहले संक्रमण और दोबारा संक्रमण के बीच का समय 23 दिन से 87 दिन पाया गया। सीडीसी ने कहा कि, घर में तेजी से एंटीजन परीक्षण किए जा रहें हैं जिसकी वजह से स्ट्रेन टेस्टिंग के लिए नमूने उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। उन्होंने आगे कहा कि इस कारण शुरु में दोबारा संक्रमण का पता नहीं चल पाता है।दोबारा संक्रमित व्यक्ति का पता लगाना मुश्किलकोई व्यक्ति अगर पहले संक्रमित होने के 90 दिनों के भीतर फिर संक्रमित होता है तो उसे रिइंफेक्शन की श्रेणी में रखा जााएगा लेकिन इसका पता लगाना भी इतना आसान नहीं है। इसके पीछे एक मुख्य कारण यह है कि SARS-CoV-2 के कण RT-PCR टेस्ट में बड़े लंबे समय के बाद पकड़ में आते हैं जब संक्रमण के लक्षण ठीक हो जाते हैं।’ओमिक्रोन कोरोना का अंतिम वैरिएंट नहीं’सह लेखक ब्रायन बोराह ने कहा कि ओमिक्रोन कोरोना का अंतिम वैरिएंट नहीं है। आगे आने वाले वैरिएंट्स में प्रतिरक्षा विरोधी विशेषताएं देखी जा सकती हैं जिससे जल्दी दोबारा संक्रमण हो सकता है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसा भी हो सकता है कि एक समय पर एक से ज्यादा वैरिएंट देखे जा सकते हैं। इन सभी चीजों के बाद हमें यह समझने की जरूरत है कि कोरोना वायरस संक्रमण एक सैद्धांतिक जोखिम से बढ़कर है। इससे यह भी साफ होता है कि वैक्सीनेशन और कोरोना प्रोटोकॉल ही इस महामारी से बचने का एकमात्र उपाय है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पानीहाटी में तृणमूल कार्यालय पर बमबारी

पानीहाटी : खड़दह थाना अंतर्गत पानीहाटी के एंजेल नगर इलाके में कुछ समाज विरोधियों ने पहले बमबारी की। इसके बाद बीटी रोड मातारंगी भवन नामक आगे पढ़ें »

ऊपर