कोरोना के साये के बीच गंगासागर मेला

मेले को लेकर जिला प्रशासन की तैयारियां जोरों पर
सन्मार्ग संवाददाता
दक्षिण 24 परगना : कोविड-19 के प्रोटोकॉल को मानते हुए जिला प्रशासन की ओर से गंगासागर मेले की तैयारियां जोर-शोर से की जा रही हैं। इस दौरान मेले परिसर में जिला प्रशासन की ओर से सारी व्यवस्था की गई है । जिला प्रशासन की ओर से मेले परिसर में भी टोटो पर माइकिंग के जरिये जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। लोगों के बीच मास्क और सैनिटाइजर वितरित किया जा रहा है। इसके अलावा मेला परिसर में सफाई का काम किया जा रहा है। मेला परिसर में लाइटिंग और सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की गयी है। मेले के दौरान भीड़ नियंत्र‌ित करने के लिए दर्जनों वॉच टॉवर बनाये गये हैं। इसके अलावा लॉट 8 के जेटी घाट में सड़क निर्माण के साथ मुड़ी गंगा नदी से बालू के खनन का काम चल रहा है ।
गंगासागर मेले में बांटे जाएंगे 10 लाख मास्क
जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि मेला में मॉस्क, शारीरिक दूरी और सैनिटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य होगा। जिनके पास मास्क नहीं होगा उन्हें प्रशासन की ओर से मास्क दिया जाएगा। जिला प्रशासन की ओर से 10 लाख मॉस्क बांटने की योजना है। कपिलम‌ुनी मंदिर को सजाया जा रहा है। मेले के दौरान भीड़ पर नजर रखने के लिए 5 कंट्रोल रूम तैयार किये जा रहे हैं । पुण्यर्थियों के लिए सैकड़ों अस्थायी घर बनाए जा रहे हैं। कोरोना काल के बावजूद प्रशासन मेले की तैयारी में जोरशोर से लगी हुआ है। सागर के सभी किनारों पर कैमरे लगाए जा रहे हैं ।
पीटीएमएस और जीपीएस से हर तीर्थ यात्री पर रहेगी नजर
इस साल गंगासागर मेले के दौरान जिला प्रशासन टेक्नोलॉजी का भी भरपूर फायदा उठाएगा। इस साल गंगासागर आने वाले हर यात्रियों पर पिलग्रिम ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए नजर रखी जाएगी। इस सिस्टम के जरिए तीर्थयात्रियों का डाटाबेस तैयार होगा। मेले में आने वाले या‌त्रियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए नयी-नयी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाएगा।
अतिथि मोबाइल ऐप : अतिथि मोबाइल ऐप के जरिए श्रद्धालु लॉन्च के आने जाने का समय, ट्रेन के आने जाने का समय और ज्वार भाटा के आने के समय की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
ई स्नान : जिला प्रशासन की ओर से जो तीर्थयात्री गंगासागर मेले में आने में असमर्थ हैं वह घर बैठे गंगा जल और पूजन सामग्री मंगवा सकते हैं। इसके लिए 150 रुपये डिलिवरी चार्ज देना पड़ेगा।
ई दर्शन : ई-दर्शन के द्वारा जिला प्रशासन गंगासागर मेले में होने वाले तमाम गतिविधियों को दर्शनार्थियों तक पहुंचाएंगा । 10 तारीख से लेकर 17 तारीख तक लाइव स्ट्रीमिंग यानी सोशल मीडिया के जरिए लोगों के घरों तक पहुंचेंगे। इसके लिए भी जिला प्रशासन सारी तैयारियां कर रहा है।
पुण्य स्नान का समय – कपिलमुनि आश्रम के वरिष्ठ पुजारी आचार्य सत्यदेव दास जी महाराज ने बताया कि 14 जनवरी की दोपहर 2:03 बजे सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर रहे हैं। पुण्य काल प्रातः 6 बजकर 2 मिनट से शुरू होकर 15 तारीख के 6 बजकर 2 मिनट तक जारी रहेगा। पुण्य काल का प्रभाव 8 घंटे पहले से शुरू हो रहा है, जिसका असर 16 घंटे बाद तक रहेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आंखों के लिए उपयोगी एक्सरसाइ

बढ़ती उम्र के साथ आंखे कमजोर होना सामान्य सी बात लगती है लेकिन आजकल के मोबाइल ,कंप्यूटर वाले ज़माने में कम उम्र में भी आंखों आगे पढ़ें »

ऐसे मिलेगी चमकदार ऐसे

पौष्टिक और रेशेदार आहार लें: किसी भी चीज को स्वस्थ रखने की जिम्मेदारी सबसे ज्यादा आहार पर होती है। अगर आपका पाचनतंत्र ठीक नहीं है आगे पढ़ें »

ऊपर