बड़ी खबर : कोरोना को ठीक करने वाली गोली हुई लॉन्च जानें…

नई दिल्ली : देश में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर बढ़ता जा रहा है। पिछले 1 महीने में ओमिक्रॉन के 1700 से ज्यादा मरीजों की पुष्टि हुई है। ऐसे में ज्यादातर लोगों के मन में एक ही सवाल है कि, क्या कोविड-19 की कोई दवा नहीं है? अगर हैं तो, ये आम जनता तक कैसे पहुंचेगी? क्या इसका कोई साइड इफेक्ट है? ऐसी दवा की बिक्री कब और कहां होगी? आपके इन सभी सवालों का हम जवाब देंगे। कोविड-19 के इलाज में उपयोग की जाने वाली एंटीवायरल गोली मोलनुपिरावीर को भारत में आपातकालीन मंजूरी मिलने के बाद सोमवार को लॉन्च कर दिया गया है। मोलनुपिरावीर के अलावा कोवोवैक्स और कॉर्बेवैक्स को भी केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन  ने मंजूदी दी है।
क्या है एंटीवायरल गोली मोलनुपिरावीर?

मोलनुपिरावीर का इस्तेमाल कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के इलाज में किया जाता है। ये एक पुनर्निर्माण दवा है, जिसे गोली का आकार दिया गया है। मरीज इसे आसानी से ले सकते है। ये गोली वायरस को शरीर में फैलने से रोकती है और जल्दी रिकवर होने में मदद करती है।संक्रमित मरीज को 12 घंटे के अंदर इसकी 4 गोलियां लेनी होंगी। इलाज के दौरान मोलनुपिरावीर की गोलियों का 5 दिनों तक कोर्स लेना जरुरी है।
यह दवा कितने रुपए में मिलेगी?

सोमवार को पूरे 5 दिन के कोर्स के साथ मोलनुपिरावीर को 1399 रु. में लॉन्च किया गया।  मैनकाइंड फार्मा के चेयरमैन आरसी जुनेजा ने बताया कि, ये दवा अब तक की सबसे सस्ती एंटीवायरल दवा है, जिसकी एक गोली 35 रुपए की मिलेगी और 5 दिन का कोर्स 1399 रुपए में मिलेगा।

मोलनुपिरावीर नाम की यह दवा कहां से खरीद सकते हैं?

माना जा रहा है कि, मोलनुपिरावीर की गोलियां बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाएंगी। दरअसल, मेडिकल स्टोर्स पर इसे बेचने की सिफारिश की गई है। लेकिन, दुकानदारों को कुछ निर्देश भी दिए जा सकते है।इस दवा का इस्तेमाल उन मरीजों के लिए किया जाएगा, जो गंभीर कोरोना के शिकार हैं और अस्पताल में भर्ती हों।

दवा खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची की जरूरत होगी या नहीं?

आने वाले दिनों में मोलनुपिरावीर के 5 दिन का कोर्स आपको भले ही मेडिकल स्टोर पर मिल जाएं। लेकिन, इसे खरीदने के लिए डॉक्टर की पर्ची जरूरी है। क्योंकि, केंद्र सरकार ने मोलनुपिरावीर के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी है, जिसका साफ मतलब है कि, इसकी नियंत्रित बिक्री की जा सकती है।कोई भी अपने मन से इस दवा को नहीं खरीद सकता है। जब तक डॉक्टर किसी मरीज के लिए इस दवा को पर्ची पर नहीं लिख देता, तब तक इसे नहीं खरीदा जा सकता है।

यह दवा काम कैसे करती है?

एक्सपर्ट्स का कहना है कि, RNA मैकेनिज्म के जरिए कोरोना वायरस हमारे शरीर में दस्तक देता है और संक्रमण फैलने लगता है। जैसे-जैसे वायरस और संक्रमण फैलता है। वैसे-वैसे मरीज की हालात गंभीर होते जाती है। लेकिन, मोलनुपिरावीर की गोलियां RNA मैकेनिज्म को ठीक करता है और इसकी गोलियां वायरस को शरीर में फैलने से रोकती हैं।जब दवा का असर शुरू होता है और वायरस कमजोर पड़ता है तो, मरीज की हालात सामान्य हो जाती है। वो गंभीर संक्रमण से बच जाता है।

कोरोना की यह दवा कितने दिनों तक लेनी पड़ेगी?

महज पांच दिन का यह कोर्स होगा और लोग आसानी से कोरोना जैसी बीमारी से ठीक हो जाएंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग : भाजपा के विक्षुप्त नेता जयप्रकाश ने साधा भाजपा कमेटी पर निशाना

कोलकाता : भाजपा के विक्षुप्त नेता जयप्रकाश मजूमदार और रितेश तिवारी ने भाजपा कमेटी पर निशाना साधा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव आगे पढ़ें »

2 करोड़ रुपये के ब्राउन शुगर के साथ ट्रक ड्राइवर गिरफ्तार

ब्रेकिंग : बंगाल सरकार 15000 कोरोना मृतकों के परिजनों को देगी मुआवजा

क्या ममता और अभिषेक के बीच आ गयी है दरार या है कोरी अफवाह

महाराष्ट्र में दर्दनाक हादसा, पुल से कार गिरने से सात मेडिकल छात्रों की मौत

ब्रेकिंग : सियालदह-बनगांव लाइन में टली बड़ी दुर्घटना

बड़ी खबर : गणतंत्र दिवस पर माओवादी हमले की आशंका, अलर्ट पर बंगाल पुलिस, नाका चेकिंग जोरों पर

विधानसभा परिसर में खड़ा होकर राज्यपाल ने ममता सरकार पर साधा निशाना

ब्रेकिंग :कांग्रेस के पूर्व सांसद एवं पूर्व मंत्री आरपीएन सिंह हो सकते हैं बीजेपी में शामिल

कहीं आप भी तो ब्लीच करने के बाद नहीं कर रहे ये गलतियां, चेहरा हो सकता है खराब

ऊपर