यूपी टाइप’ पर छिड़ा सियासी संग्राम: प्रियंका बोलीं- ये प्रदेश की जनता का अपमान

नई दिल्ली :बजट पेश करने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के ‘यूपी टाइप’ बयान पर सियासत शुरू हो गई है। चुनावी मौसम में ऐसे बयान पर कांग्रेस ने कहा है कि वित्त मंत्री ऐसा कहकर यूपी की जतना का अपमान कर रहीं हैं। उन्होंने यूपी के लोगों को बजट में कुछ नहीं दिया है, कम से कम प्रदेश की जनता का अपमान तो न करें। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने निर्मला सीतारमण पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- ‘ निर्मला सीतारमण जी आपने यूपी के लिए बजट के झोले में कुछ डाला नहीं, ठीक है…लेकिन यूपी के लोगों का इस तरह अपमान करने की क्या जरूरत थी? समझ लीजिए, यूपी के लोगों को ‘यूपी टाइप’ होने पर गर्व है। हमको यूपी की भाषा, बोली, संस्कृति व इतिहास पर गर्व है।’

कांग्रेस ने शुरू किया #यूपी_मेरा _अभिमान
वित्त मंत्री की इस टिप्पणी के बाद कांग्रेस ने ट्विटर पर ही #यूपी_मेरा _अभिमान की शुरुआत भी कर दी। यूपी कांग्रेस के ट्विटर हैंडल पर लिखा गया निर्मला सीतारमण ने अपने शर्मनाक बयान से न सिर्फ यूपी के बौद्धिक इतिहास और चेतना को, बल्कि समूचे प्रदेश की जनता को अपमानित किया है। यूपी की जनता इस अपमान का बदला जरूर लेगी।

क्या है पूरा मामला 
दरअसल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बजट पर निशाना साधते हुए कहा था कि मोदी सरकार का बजट शून्य है। इसमें सैलरी क्लास, मिडिल क्लास, गरीब-वंचित, युवाओं, किसानों और एमएसएमई सेक्टर के लिए कुछ भी नहीं है। बजट बाद हुई प्रेसवार्ता में निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी की टिप्पणी का जवाब वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी से देने को कहा। इस पर चौधरी ने कहा कि राहुल गांधी को बजट समझ में नहीं आया है। बजट में सभी सेक्टर्स के लिए घोषणाएं की गई हैं।

निर्मला बोलीं ‘यूपी टाइप’ जवाब दिया है
वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी के जवाब को आगे बढ़ाते हुए सीतारमण ने कहा, ‘चौधरी ने टिपिकल यूपी टाइप जवाब दिया है। मुझे लगता है यूपी से भागने वाले सांसद(राहुल गांधी) के लिए इतना ही काफी है। राहुल ने जिन कैटेगरी का जिक्र किया है, उनके बारे में मैंने बजट में कुछ न कुछ कहा है।’ वित्त मंत्री यहीं नहीं रुकीं, आगे कहा कि मुझे उस पार्टी पर दया आती है, जिसके पास एक ऐसा नेता है, जो केवल टिप्प्णी करना जानता है। मैं आलोचना झेलने के लिए तैयार हूं, लेकिन उनसे नहीं जो बिना होम वर्क किए आते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर