कांग्रेस में पीके की एंट्री: सोनिया की वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक

नई दिल्ली :  राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कांग्रेस में एंट्री होगी या नहीं, उनके प्रस्ताव पर सहमति बनेगी या नहीं…इस पर जल्द ही फैसला लिया जा सकता है। पीके के प्रस्ताव पर विचार के लिए 10 जनपथ पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक चल रही है। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में केसी वेणुगोपाल, दिग्विजय सिंह, अंबिका सोनी, रणदीप सुरजेवाला, जयराम रमेश, प्रियंका गांधी, एके एंटनी, पी चिदंबरम और कमलनाथ भी बैठक में पहुंचे हैं। वहीं खबरों के मुताबिक, कांग्रेस नेता सचिन पायलट भी बैठक के बाद आज ही सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। इससे पहले प्रशांत किशोर के प्रस्ताव पर विचार के लिए कांग्रेस नेताओं की एक समिति गठित की गई थी। इस समिति ने अपनी रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष को सौंप दी है, जिस पर अब सोनिया गांधी को अंतिम फैसला लेना है। कुछ नेता पीके से नाराज तो कुछ ने बताया सही कदमसूत्रों ने यह भी संकेत दिया है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता किशोर और पार्टी में उनकी भूमिका के बारे में अलग-अलग विचार रखते हैं। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, यह एक अजीब समीकरण जैसा दिखता है। वह न तो औपचारिक रूप से आई-पीएसी का हिस्सा हैं और न ही संगठन में उनका कोई पद है। फिर भी, वे उनके बिना काम नहीं करते हैं। अशोक गहलोत ने प्रशांत किशोर की खुलकर तारीफ करते हुए कहा है कि वह एक ‘ब्रांड’ हैं। वीरपा मोइली ने कहा है कि किशोर के पार्टी में प्रवेश का विरोध करने वाले सुधार विरोधी हैं। कुछ नेताओं ने यह भी कहा है कि अगर किशोर औपचारिक रूप से पार्टी में शामिल होते हैं तो कुछ क्षेत्रीय दलों के साथ उनके संबंधों से कांग्रेस को फायदा हो सकता है। किशोर को कांग्रेस में शामिल करना एक बड़ी चुनौती है, जिसका पार्टी को सामना करना पड़ेगा, विशेष रूप से उस क्षमता का निर्णय जो उनके पास है। किशोर की सक्रिय भूमिका कई नेताओं को असहज कर सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब मलय घटक के करीबी ईडी के निशाने पर

पार्षद के पति को दिल्ली में पेश होने का निर्देश कुछ व्यवसायी भी आये ईडी के स्कैनर पर सन्मार्ग संवाददाता आसनसोल : कोयला तस्करी मामले में मंत्री मलय आगे पढ़ें »

Belly Fat : पतली कमर के लिए ऐसे करें इस भूसी का सेवन

कोलकाता : आज के समय की लाइफस्टाइल और खराब खानपान के चलते लोग मोटापे का शिकार होने लगते हैं। खासकर लोग वैली फैट से बहुत आगे पढ़ें »

ऊपर