खुशखबरी! इस साल बढ़ने वाली है सैलरी, जानिए आपका कितना होगा इंक्रीमेंट?

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण पिछले साल नौकरीपेशा लोगों के सैलरी इंक्रीमेंट नहीं मिल पाया था, इस साल उनके लिए अच्छी खबर है। एक सर्वेक्षण के मुताबिक भारत में कंपनियां अपने कर्मचारियों की सैलरी में औसतन 7.3 परसेंट की बढ़ोतरी कर सकती हैं। सर्वेक्षण के मुताबिक उम्मीद से ज्यादा अच्छी आर्थिक रिकवरी, बिजनेस और कंज्यूमर डिमांड बढ़ने की वजह से कंपनियां कर्मचारियों को इसका फायदा देंगी।

पिछले साल से ज्यादा बढ़ेगी सैलरी 

ये सर्वेक्षण किया है डेलोयट टच तोहमतसू इंडिया एलएलपी ने, जिसमें बताया गया है कि इस साल औसत इंक्रीमेंट पिछले साल 2020 के 4.4 परसेंट से ज्यादा होगा, लेकिन 2019 के सैलरी इंक्रीमेंट 8.6 परसेंट से कम होगा। इस सर्वे में शामिल हुईं 92 परसेंट कंपनियों ने कहा कि वो इस साल अपने कर्मचारियों को इंक्रीमेंट देंगी, जबकि पिछले साल 60 परसेंट ने सैलरी इंक्रीमेंट देने का वादा किया था। इस हिसाब से ये साल कर्मचारियों के लिए काफी अच्छा हो सकता है। इस सर्वेक्षण की शुरुआत दिसंबर 2020 में की गई, जिसमें 400 ऑर्गनाइजेशन को वकर किया गया जो 7 सेक्टर्स और 25 सब-सेक्टर्स में फैले थे। सर्वेक्षण के मुताबिक भारत में कंपनियां इस साल औसत सैलरी बढ़ोतरी 7.3 परसेंट करेंगी, जो कि पिछले साल 2020 में 4.4 परसेंट था। ये 2019 में किए गए 8.6 परसेंट सैलरी इंक्रीमेंट से कम है।

20 परसेंट कंपनियां देंगी डबल डिजिट इंक्रीमेंट 

सर्वेक्षण का कहना है कि ‘कोरोना महामारी के बाद उम्मीद से ज्यादा बेहतर आर्थिक रिकवरी, बिजनेस रिवाइवल और कंज्यूमर कॉन्फिडेंस से कंपनियों को अपना मुनाफा बढ़ने की संभावना दिख रही है, इसलिए कंपनियां सैलरी इंक्रीमेंट दे रही हैं।’ सर्वेक्षण के मुताबिक इस साल 20 परसेंट कंपनियां डबल डिजिट में अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने वाली हैं, जबकि पिछले साल 2020 में सिर्फ 12 परसेंट कंपनियों ने ऐसा किया था। 2020 में जिन 60 परसेंट कंपनियों ने इंक्रीमेंट दिया था, उसमें से एक तिहाई ने ऑफ साइकिल कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाई थी।

इन सेक्टर्स में सबसे ज्यादा सैलरी बढ़ेगी

सर्वेक्षण के मुताबिक जिन कंपनियों ने 2020 में सैलरी इंक्रीमेंट नहीं दिया, उनमें से सिर्फ 30 परसेंट ही अपने कर्मचारियों को इंक्रीमेंट या बोनस के जरिए पिछले साल की भरपाई करेंगी। सर्वेक्षण में कहा गया है कि मुताबिक लाइफ साइंस और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (आईटी) सेक्टर सबसे ज्यादा सैलरी इंक्रीमेंट देंगे।

इन सेक्टर में सबसे कम सैलरी बढ़ेगी

जबकि मैन्यूफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर में कर्मचारियों की सैलरी सबसे कम बढ़ेगी। लाइफ साइंस इकलौता ऐसा सेक्टर होगा जो 2019 में सैलरी इंक्रीमेंट के बराबर हाइक देगा। बाकी सेक्टर्स 2021 में साल 2019 के मुकाबले कम सैलरी इंक्रीमेंट देंगे। केवल ई-कॉमर्स कंपनियां और डिजिटल सेक्टर की कंपनियां साल 2021 में डबल डिजिट में सैलरी बढ़ाएंगी। हॉस्पिटैलिटी, रियल एस्टेट, इंफ्रास्ट्रक्चर, रीन्यूएबल एनर्जी कंपनियों में सबसे कम सैलरी बढ़ेगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड के एक्टिव मामले लाखों में, चिंता बढ़ी

डिस्चार्ज रेट में भी गिरावट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के एक्टिव मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ती आगे पढ़ें »

उत्तेजना से भरपूर सेक्स के कुछ बेसिक नियम, प्ले करने से पहले जरूर जान लें

कोलकाता : रफ सेक्स एक तरह से उत्तेजना से भरपूर और उन्मादियों की तरह अपने पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने को कहा जाता है। आगे पढ़ें »

ऊपर