लद्दाख में पकड़ा गया एक चीनी सैनिक, सेना कर रही पुछताछ

नई दिल्ली : भारत-चीन के बीच महीनों से चल रहे सीमा विवाद के बीच भारतीय सुरक्षाबलों ने चुमार-डेमचोक इलाके में एक चीनी सैनिक को पकड़ा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुुसार, यह सैनिक अनजाने में भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर गया ऐसा माना जा रहा है। पकड़े गए चीनी सैनिक को प्रक्रिया का पालन करने के बाद स्थापित प्रोटोकॉल के अनुसार चीनी सेना को वापस किया जाएगा। भारतीय सेना उससे पूछताछ कर यह जानने की कोशिश कर रही है कि अकेला सैनिक भारतीय सीमा में कैसे घुसा। क्‍या वह जासूसी के मकसद से आया था या रास्‍ता भटक कर, यह तय करने के बाद सेना अगला ऐक्‍शन लेगी। मालूम हो कि प्रोटोकॉल के अनुसार, अनजाने में सीमा पार करने वाले सैनिक को वापस भेज दिया जाता है।

दोनों देश की सेना में है तनातनी
भारत और चीन दोनों देशों की सेनाओं में अप्रैल-मई से तनाव का माहौल है। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के कई बिंदुओं पर दोनों ओर से तनातनी अब भी बरकरार है। मुख्‍य तनाव बिंदुओं में देमचोक के अलावा पैंगोंग झील का उत्‍तरी और दक्षिणी तट, देपसांग का मैदानी इलाका शामिल हैं। वहीं सीमा पर दोनों ओर से भारी संख्‍या में जवानों की तैनाती भी की गयी है। ऐसी स्थिति में किसी चीनी सैनिक का सीमा पार आना बड़ी घटना है।
नया नहीं है भारत चीन सीमा विवाद
चीन से सीमा का विवाद नया नहीं है। अक्साई चिन से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक भारत और चीन के बीच कई मामले हैं। दोनों देशों के बीच 3500 किलोमीटर लंबी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल फिलहाल अंतरराष्ट्रीय सीमा का काम करती है, लेकिन कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां दोनों देश अपना दावा रखते हैं। अकसर चीनी सेना पैट्रोलिंग के नाम पर भारतीय इलाके में घुसपैठ करती रहती है। डोकलाम एक ऐसा ही मामला था जहां 70 दिन से ज्यादा समय तक विवाद हुआ था। हालांकि, वहां कहीं न कहीं चीन को कूटनीतिक और रणनीतिक हार का सामना करना पड़ा था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विराट अच्छे कप्तान लेकिन रोहित उनसे बेहतर : गंभीर

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने टी-20 टीम कप्तानी पांच बार के आईपीएल विजेता रोहित शर्मा को सौंपने की आगे पढ़ें »

साढ़े चार महीनों में 22 कोविड-19 जांच करायी : गांगुली

मुंबई : बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने मंगलवार को खुलासा किया कि महामारी के बीच अपनी पेशेवर प्रतिबद्धताओं को पूरा करने आगे पढ़ें »

ऊपर