केंद्र की सरकार नागरिकों को बांटने का काम कर रही है- सोनिया गांधी

नई दिल्ली : दिल्ली की रामलीला मैदान में कांग्रेस के बड़े नेता मोदी सरकार के खिलाफ आर्थिक मंदी, किसान विरोधी नीतियों, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, बेरोजगारी और संविधान पर हमले को लेकर भारत बचाओ रैली का आयोजन किया है। रैली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री और कार्यकर्ता शामिल हो रहे हैं। मालूम हो कि रैली में भाग लेने के लिए देश के हर कोने से लाखों की संख्‍या में कांग्रेस कार्यकर्ता आए हुए हैं। प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर धावा बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार नागरिकों को बांटने का कथित प्रयास कर रही है।

देश को बचाना मुश्‍किल : सोनिया

सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन कानून ने देश की आत्मा को तार-तार कर दिया है। देश को बचाना बेहद कठिन हो गया है। अगर इसे बचाना है तो हमें कठोर संघर्ष करना होगा। विनिवेश पर उन्होंने कहा कि कंपनियों का विनिवेश गलत हैं। हमें नहीं पता कि कंपनियां किन्हें और किसके हाथ में दी जा रही है। सोनिया ने कहा कि आम जनता अपने पैसे न तो अपने घरोें में रख पा रही है और ना ही कही जमा कर पा रही है। नागरिकता कानून के चलते सारा पुर्वोत्तर जल रहा है। अब हम यह नाइंसाफी नहीं सहेंगे क्योंकि इसे सहना सबसे बड़ा अपराध है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को हम बताना चाहते है कि लोकतंत्र की रक्षा के लिए हम कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं।

युवाओं के सामने अंधेरा छा गया है

सोनिया ने मोदी सरकार पर बेरोजगारी को लेकर कटाक्ष किया कि लोगों की नौकरियां खतरे में है,देश में बेराजगारी बढ़ती जा रही है। ऐसी बेरोजगारी देश ने कभी नहीं देखी। देश के युवाओं के सामने अंधेरा छा गया है। उन्होंने सरकार पर हमला किया कि आखिर सबका साथ सबका विकास कहां गया?

किसानों की हालत नहीं देखी जाती

सोनिया ने इस दौरान किसानों की स्थिति दयनीय बताई। उन्होंने कहा कि मेरे अन्नदाता किसानों की हालत अब मुझसे नहीं देखी जाती। उनकी हालत में सुधार लाने के लिए अब हमें आर या पार की लड़ाई लड़नी होगी। देश को बचाने के लिए कठोर संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा कि देश के किसानों का जीना मुश्किल हो गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अनअकैडमी, ड्रीम11 ने आईपीएल टाइटल प्रायोजक के लिये दस्तावेज सौंपे

नयी दिल्ली : शिक्षा प्रौद्यौगिकी कंपनी ‘अनअकैडमी’ और फंतासी स्पोर्ट्स मंच ‘ड्रीम11’ ने इस साल चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो की जगह इंडियन प्रीमियर लीग आगे पढ़ें »

धोनी की अगुवाई में सीएसके खिलाड़ी आईपीएल शिविर के लिए चेन्नई पहुंचे

चेन्नई : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और चेन्नई सुपरकिंग्स के टीम के उनके साथी खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगे पढ़ें »

ऊपर