नन्हे-मुन्नों की कोरोना वैक्सीन : ब्रिटेन ने दी मॉडर्ना के टीके को मंजूरी

नई दिल्ली : ब्रिटेन ने नन्हे मुन्नों को कोरोना से बचाने के लिए मॉडर्ना इंका. द्वारा विकसित ‘स्पाइकवैक्स’ टीके को मंजूरी दे दी है। ये टीके 6 से 11 साल तक के बच्चों को लगेंगे।  ब्रिटेन के दवा नियामक ने इस टीके को पूरी तरह सुरक्षित पाया है। ब्रिटेन की मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी  के अनुसार मॉडर्ना की वैक्सीन स्पाइकवैक्स  सुरक्षा, गुणवत्ता व असर की कसौटी पर खरी उतरी है। स्पाइकवैक्स को ब्रिटेन में 12 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए पहले ही मंजूरी दे दी गई थी। इसके बाद कम उम्र के बच्चों को यह वैक्सीन देने की मंजूरी दी गई। इससे कुछ घंटे पूर्व ही फ्रांसीसी फर्म वालनेवा की वयस्कों की वैक्सीन को मंजूरी दी गई थी। वालनेवा की वैक्सीन आसानी से स्टोर की जाने वाली कोरोना रोधी वैक्सीन है। एमएचआरए के प्रमुख जून राइन का कहना है कि मॉडर्ना  बयान में कहा कि यह टीकाकरण पर ब्रिटेन की संयुक्त समिति पर निर्भर करेगा कि वह देश के टीकाकरण कार्यक्रम के हिस्से के रूप में मॉडर्ना के इस टीके को बच्चों को लगाने की इजाजत देगी या नहीं। मंजूरी मिल गई तो इसे ब्रिटेन के टीकाकरण अभियान में शामिल कर तेजी से बच्चों को लगाया जा सकेगा, ताकि उन्हें महामारी से बचाया जा सके।
शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर