भाजपा के पास नहीं खुद का कोई स्वतंत्रता सेनानी- प्रियंका का तंज

Priyanka Gandhi

नई दिल्ली : कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने देश के पहले गृह मंत्री लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 144वीं जंयती पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) पर तंज कसा है। प्रियंका ने इस मौके पर उन्होंने यह दावा किया कि भाजपा का अपना कोई स्वतंत्रता सेनानी महापुरुष नहीं है। यही वजह है कि उन्हें कांग्रेस नेता को यह सम्मान देना पड़ रहा है। बता दें कि पीएम मोदी के साल 2014 में केंद्र की सत्ता में आने के बाद से ही 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के तौर पर मनाने की शुरुआत की गई थी। आज भी पीएम मोदी ने गुजरात के केवड़िया में जाकर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पर पुष्पांजलि अर्पित की है।

कांग्रेस की विचारधारा के प्रति समर्पित थे सरदार पटेल

प्रियंका ने ट्वीट किया कि ‘सरदार पटेल कांग्रेस के निष्ठावान नेता थे जो कांग्रेस की विचारधारा के प्रति समर्पित थे। वह जवाहरलाल नेहरू के करीबी साथी थे और आरएसएस के सख्त खिलाफ थे। आज बीजेपी द्वारा उन्हें अपनाने की कोशिशें करते हुए और उन्हें श्रद्धांजलि देते देख के बहुत खुशी होती है, क्योंकि बीजेपी के इस एक्शन से दो चीजें स्पष्ट होती हैं, पहला-उनका अपना कोई स्वतंत्रता सेनानी महापुरुष नहीं है। तकरीबन सभी कांग्रेस से जुड़े थे। दूसरा- सरदार पटेल जैसे महापुरुष को एक न एक दिन उनके शत्रुओं को भी नमन करना पड़ता है।’

सत्ता में बनी रहने के लिए कर रही है भाजपा

प्रियंका के साथ-साथ कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने भी भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आरएसएस के बारे में सरदार पटेल के विचार जगजाहिर हैं। अगर भाजपा उनकी जयंती मना रही है तो यह एक स्वांग रचाने जैसा है। जो लोग नाथू राम गोड़से की पूजा करते हैं उन्हें यह भी करना पड़ रहा है। वर्तमान सरकार सत्ता में बनी रहने के लिए कुछ भी कर सकती है।

वो देश के नेता थे

सरदार पटेल की विरासत को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच सियासी बवाल बढ़ता ही जा रहा है। प्रियंका के बयान पर भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कांग्रेस सरदार पटेल जैसे स्वतंत्रता सेनानियों को बांटने का काम कर रही है। सरदार पटेल किसी पार्टी के नहीं थे, वो देश के नेता थे। कांग्रेस ने हर योजना से लेकर भवन तक का नाम सिर्फ एक परिवार के नाम पर रखा। कांग्रेस ने सरदार पटेल का अपमान किया है, प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार को जबरदस्त सम्मान दिया है। पटेल महात्मा गांधी वाली कांग्रेस के नेता थे, जिसके लिए महात्मा गांधी ने कहा था कि आजादी के बाद कांग्रेस को खत्म कर देना चाहिए। सरदार पटेल, इंदिरा-राजीव गांधी वाली हाथ छाप कांग्रेस के सदस्य नहीं थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अध्यापिका के पद से बैशाखी का इस्तीफा

कोलकाता : मिली अल-अमीन कॉलेज की अध्यापिका के पद से बैशाखी बंद्योपाध्याय ने इस्तीफा दे दिया है। गुरुवार को शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को मेल आगे पढ़ें »

33वां मूर्ति देवी पुरस्कार से सम्मानित किए जाएंगे कवि डॉ. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी

नयी दिल्ली : साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष और जाने माने कवि-आलोचक डॉ. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी को प्रतिष्ठित 33वें मूर्तिदेवी पुरस्कार के लिए चुना गया आगे पढ़ें »

ऊपर