‘निवार’ के बाद अब बरवी चक्रवात का खतरा, 5 जिलों में अलर्ट

नयी दिल्ली : भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि बंगाल की खाड़ी से बरवी तूफान ने भारत के दक्षिणी तटों पर दस्तक दी है, जिससे तमिलनाडु और केरल प्रभावित हो सकते हैं। केरल में चक्रवात बरवी के शुक्रवार तक पहुंचने की आशंका के मद्देनजर राज्य में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसमें तुथुकुडी, तिरुनेलवेली, कन्याकुमारी, कुड्डालोर और पुदुचेरी समेत आसपास के इलाके शामिल हैं। मौसम विभाग केे अनुसार, यह तूफान अभी तमिलनाडु में रामनाथपुरम से 40 किमी दूर है। अगले 6 घंटों में भारी बारिश की संभावना है। हाल ही में चक्रवात निवार ने दक्षिणी राज्यों में कहर बरपाया है और अभी उसे गुजरे एक सप्ताह भी नहीं बीता है कि एक और चक्रवात का खतरा मंडराने लगा है।
10 जिलों में यलो अलर्ट जारी
मौसम विभाग की माने तो बरवी चक्रवात के दौरान 70 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाए चल सकती हैं। इसके बाद इसके कमजोर पड़ने की संभावना है। इस तूफान के मद्देनजर केरल के 10 जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट को पर शुक्रवार सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक बंद कर दिया गया है।

नेवी शिप और एयरक्राफ्ट तैनात

प्रशासन ने कहा कि नौसेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया दल की गोताखोरी और राहत टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है। दो नौसेना के जहाज और विमान भी तैनात किए गए हैं। गुरुवार की रात, तूफान रामेश्वरम गुजरा और भारी बारिश और हवाओं के कारण कुछ नौकाएं क्षतिग्रस्त हो गईं। 3 मछुआरों को भी बचाया गया। बता दें कि एक ही हफ्ते के भीतर बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में उठने वाला यह तीसरा तूफान है। इससे पहले 23 नंवबर को अरब सागर में गति तूफान सोमालिया के तटों से और 25 नवंबर को बंगाल की खाड़ी से उठा निवार तूफान पुड्‌डुचेरी से टकराया था।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नंदीग्राम में ममता की सभा में लाखों की भीड़ उमड़ने की उम्मीद

सन्मार्ग संवाददाता खड़गपुर/नंदीग्राम : नये वर्ष के दूसरे सप्ताह से ही तृणमूल सुप्रीमों और राज्य की मुख्यमंत्री जिलों के दौरे पर निकल रहीं हैं और उसकी आगे पढ़ें »

सांसद पड़े नरम, पहुंचे हावड़ा में आयोजित तृणमूल की रैली में

सौगत ने सांसद प्रसून को किया फोन अरूप राय के नेतृत्व में निकाली गयी रैली में प्रसून व भाष्कर भट्टाचार्य राजीव, लक्ष्मीरतन व वैशाली नहीं हुए शामिल हावड़ा आगे पढ़ें »

ऊपर