भारत के प्याज ने ला दिए बांग्लादेश की आंखों में आंसू

onion

ढाका: प्याज छीलने पर आंसू आते तो आपने खूब देखे होंगे, लेकिन किसी देश द्वारा प्याज का निर्यात रोक देने पर आंखों में पानी भर आना पहली बार देख लें। दरअसल, भारत में प्याज के दाम आसमान पर  चढ़ने के बाद भारत ने उसके निर्यात पर अचानक रोक लगा दी है। इससे बांग्लादेश की हालत खराब हो गई है। बांग्लादेश ने किसी सूचना के बिना प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के भारत के फैसले पर आधिकारिक रूप से अपनी ‘गहरी चिंता’ जताई है। भारत सरकार ने सोमवार को घरेलू बाजार में प्याज की उपलब्धता बढ़ाने और कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया था। भारत ने अप्रैल-जून के दौरान करीब 20 करोड़ डॉलर के प्याज का निर्यात किया जबकि पिछले पूरे साल 44 करोड़ डॉलर के प्याज का निर्यात हुआ था। भारत प्याज का सबसे अधिक निर्यात बांग्लादेश, श्रीलंका, यूएई और मलेशिया को करता है।

बांग्लादेश में खाद्य पदार्थों की आपूर्ति होगी प्रभावित
बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने ढाका स्थित भारत के उच्चायोग के माध्यम से भेजे पत्र में कहा, ‘14 सितंबर 2020 को भारत सरकार द्वारा अचानक की गई घोषणा से इस संबंध में दो मित्र देशों के बीच 2019 और 2020 में हुई चर्चाओं और इस दौरान बनी आपसी समझ को कमजोर किया गया है।’ बांग्लादेश की मीडिया को यह पत्र बुधवार की देर शाम उपलब्ध कराया गया। पत्र में प्याज के निर्यात को फिर से शुरू करने के लिए आवश्यक उपाय करने का अनुरोध किया गया है। पत्र में कहा गया है कि भारत के अचानक इस संबंध में घोषणा करने से बांग्लादेश के बाजार में आवश्यक खाद्य पदार्थों की आपूर्ति प्रभावित होगी।

पत्र के मुताबिक ढाका में 15-16 जनवरी, 2020 को हुई दोनों देशों के वाणिज्य मंत्रालयों की एक सचिव-स्तरीय बैठक में बांग्लादेश ने भारत से आवश्यक खाद्य वस्तुओं के निर्यात प्रतिबंध नहीं लगाने का अनुरोध किया गया था। बांग्लादेश ने इस तरह के प्रतिबंध जरूरी होने पर भारत को समय से पहले उसे सूचित करने का अनुरोध भी किया है। इस मामले को बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अक्टूबर 2019 में भारत की यात्रा के दौरान भी उठाया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आवश्यक वस्तु संशोधन विधेयक को संसद की मंजूरी, प्याज एवं आलू सूची से होंगे बाहर

नयी दिल्ली : संसद ने अनाज, तिलहनों, खाद्य तेलों, प्याज एवं आलू को आवश्यक वस्तुओं की सूची से बाहर करने के प्रावधान वाले एक विधेयक आगे पढ़ें »

कम्प्यूटर से आंखों का काम होता तमाम

इन दिनों टी.वी., कम्प्यूटर एवं लैपटाॅप का अधिकाधिक उपयोग हो रहा है। इनके उपयोगकर्ता लंबे समय तक इससे चिपके रहते हैं। इसके अधिकाधिक उपयोग से आगे पढ़ें »

ऊपर