आसाराम एम्स में, भक्तों पर लाठीचार्ज

जोधपुरः दुष्कर्म मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा आसाराम गुरु पूर्णिमा पर अपने समर्थकों को चेहरा दिखाने के लिए जेल से बाहर आ ही गया। आसाराम को तबीयत ठीक नहीं होने पर जांच के लिए शनिवार को एम्स लाया गया। इसकी सूचना उसके समर्थकों के पास पहले से थी। ऐसे में बड़ी संख्या में समर्थक एम्स के बाहर जुटना शुरू हो गए। गड़बड़ी की आशंका से पुलिस ने उन्हें खदेड़ना शुरू किया। जोधपुर जेल के बाहर भी बड़ी संख्या में समर्थक आ डटे। पुलिस का वाहन आसाराम को लेकर निकला तो समर्थक उसकी एक झलक देखने के लिए बेकाबू हो गए। पुलिस ने डंडे फटकार कर उन्हें वहां से भगा दिया। इस दौरान मची भगदड़ में कई महिलाएं गिर पड़ीं। इनमें से कुछ को चोटें भी आई हैं।

आसाराम को जोधपुर जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच एम्स लाया गया। यहां उसकी एमआरआई की गई। इसके अलावा कुछ और जांच होनी हैं। आसाराम ने इलाज के लिए गुरु पूर्णिमा का दिन चुना। उसे दो दिन पहले एम्स लाया जाना था, लेकिन बहाने बनाकर वह नहीं आया। शनिवार को वह खुद आने को तैयार हो गया।

इसकी खबर उसके समर्थकों को मिल चुकी थी। गुरु पूर्णिमा पर उसके दर्शन के लिए वे सुबह से ही एम्स के बाहर जुट गए। हर गुरु पूर्णिमा को आसाराम समर्थक जेल के बाहर इकट्‌ठा होकर पूजा करते रहे हैं।

माहौल न बिगड़े इसलिए एम्स के बाहर पुलिस बल तैनात है। पुलिस आसाराम समर्थकों को खदेड़ रही है, लेकिन वे कुछ देर में वापस आकर खड़े हो जाते हैं। बताया जाता है कि इनमें से कुछ तो चुपके से अंदर जाने में भी कामयाब रहे। वे आसाराम के पास जाकर उससे मिल आए।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भाटपाड़ा में भाजपा सांसद के घर पहुंचे एनआईए अधिकारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बैरकपुर के सांसद सह प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह के भाटपाड़ा स्थित निवास स्थल पर बमबारी मामले में जांच के लिए आगे पढ़ें »

ऊपर