मध्य प्रदेश में मिर्ची बाबा रेप केस में अरेस्ट

ग्वालियर : कमलनाथ सरकार में दर्जा प्राप्त मंत्री रहे वैराग्य नंद गिरी महाराज उर्फ मिर्ची बाबा को दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार अल सुबह भोपाल पुलिस टीम ग्वालियर पहुंची, जहां ग्वालियर क्राइम ब्रांच की टीम के साथ बाबा को एक होटल से पकड़ लिया है। भोपाल पुलिस टीम मिर्ची वाला को गिरफ्तार कर रवाना हो गई है। मिर्ची बाबा के खिलाफ भोपाल के महिला थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज है। पीड़ित महिला ने आरोप लगाया था कि मिर्ची ने बच्चे पैदा होने का झांसा देकर नशे की गोलियां खिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया था। इसी को लेकर आरोपी मिर्ची बाबा को पकड़ने के लिए भोपाल की पुलिस टीम बीती रात ग्वालियर पहुंची, जहां कल सुबह बाबा को एक होटल से गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि पीड़िता रायसेन की रहने वाली है। उसने शिकायत में पुलिस को बताया है कि उसकी शादी को चार साल हो चुके हैं। बच्चे नहीं हैं वह नि:संतान है, इसलिए मिर्ची बाबा के संपर्क में आई थी। बाबा ने पूजा-पाठ कर संतान होने का दावा किया। उसे बुलाकर इलाज के नाम पर नशे की गोलियां खिलाकर रेप किया।
दिग्विजिय सिंह के लिए किया था मिर्ची यज्ञ
बता दें वैराग्यानंद गिरी महाराज उर्फ मिर्ची बाबा ने वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में चर्चा में आए थे जब उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह की जीत सुनिश्चित करने के लिए पांच क्विंटल लाल मिर्ची का हवन किया और दावा किया कि यदि दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं जीते तो वह दूसरे दिन समाधि ले लेंगे। लेकिन चुनाव के नतीजों में भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की जीत हुई। उसके बाद मिर्ची बाबा की जल समाधि पर सवाल उठे। इसके बाद मिर्ची गायब हो गए थे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर