क्या आपकाे पता है भारत में सिर्फ 50 फीसदी लोग ही मास्क क्यों लगाते हैं?

कोलकाता: भारत में कोरोना के मामलों में अब धीरे-धीरे कमी हो रही है, हालांकि ये कमी कब तक रहेगी या फिर लगातार बनी रहेगी इसे लेकर कोई भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। कोरोना से होने वाली मौतें अभी भी चिंता का कारण बनी हुई हैं। देश में कोरोना की स्थिति जानने के लिए सबसे पहले नजर डालते हैं पिछले चौबीस घंटे के आंकड़ों पर-

पिछले 24 घंटे में कुल नए केस आए: 2.40  लाख

पिछले 24 घंटे में कुल मौतें: 3736

देश 32  राज्य और केंद्र शासित प्रदेश यानी देश की  99 फीसदी आबादी किसी न किसी तरह के लॉक डाउन या पाबंदियों में है

मई का महीना खतरनाक

भारत में मई के महीने में 75 हजार से ज्यादा लोगों की मौतें हुई हैं। सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में हुईं हैं जहां साढ़े पंद्रह हजार से ज्यादा लोगों की मृत्यु हुई है। वहीं कर्नाटक में साढ़े सात हजार से ज्यादा, दिल्ली में छः हजार से ज्यादा, उत्तर प्रदेश में साढ़े पांच हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं।भारत सरकार के हेल्थ मिनिस्ट्री ने देश के 25 शहरों में 2000 लोगों से सवाल किए और उन्हीं सवाल और जवाबों पर आधारित है यह  सर्वे।

सर्वे की मुख्य बातें क्या है?

  • पहला, भारत में सिर्फ 50 फीसदी लोग ही मास्क लगाते हैं।
  • दूसरा , अन्य 50 फीसदी मास्क लगाते हैं। जो 50 फीसदी नहीं लगाते हैं उनकी बात तो अलग ही है।
  • अब जानते हैं उन 50  फीसदी की बात जो मास्क लगाते हैं
  • पहला , इसमें से 64 फीसदी लोग मास्क लगाते हैं सिर्फ मुहं पे नाक पर नहीं। दूसरा , 20 फीसदी  लोग ठुड्डी तक ही मास्क पहनते हैं। तीसरा ,  2 प्रतिशत लोग मास्क को गर्दन तक रखते हैं
  • चौथा और सबसे महत्वपूर्ण  , सिर्फ 14 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो नाक, मुंह और ठुड्डी को कवर करते हुए ठीक तरह से मास्क  लगाते हैं।
  • कहने का मतलब ये है कि हेल्थ मिनिस्ट्री  के सर्वे के अनुसार, भारत में सिर्फ 14 फीसदी लोग ही सही तरीके मास्क लगाते  हैं।
  • हेल्थ मिनिस्ट्री का ये भी कहना  है कि, कोई संक्रमित और गैर-संक्रमित व्यक्ति मास्क नहीं लगाता है, तो संक्रमण के फैलने की 90 फीसदी  संभावना बढ़ जाती है अर्थात यदि मास्क का सही तरीके से उपयोग किया जाए तो कोरोना संक्रमण को काफी रोका जा सकता है।

किसकी जिम्मेदारी ?

सरकार और सिस्टम दोनों को हम डेली कोसते रहते हैं जिम्मेदार ठहराते रहते हैं। सरकार की जिम्मेदारी पहली होती है इसमें कोई  संदेह नहीं है। लेकिन सवाल उठता है कि  क्या आपकी या हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं होती ।  यानी 50  फीसदी लोग मास्क लगाते ही नहीं हैं और बाकी 36 फीसदी सही तरीके से । क्या ये सवाल सीधे सीधे आपसे या हमसे जुड़ा नहीं है ?

अंत  में सन्मार्ग इतना ही कहना चाहेंगे कि  मास्क लगाइए और अपनी और देश की जान बचाइए। हमारा एक मूल मंत्र होगा: मास्क लगाओ इंडिया ! मास्क लगाओ इंडिया ! मास्क लगाओ इंडिया !

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘उत्तर बंगाल में भाजपा की अंत शुरूआत हुई’

कहा - राज्य में भाजपा का पतन निकट अलीपुरदुआर के भाजपा अध्यक्ष सहित 7 नेता तृणमूल में शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उत्तर बंगाल में भाजपा को झटका आगे पढ़ें »

सेक्स के 4 ऐसे पोजीशन जो रात को बना देती है, खुशनुमा

कोलकाताः सेक्स दुनिया का सबसे अलग एहसास है। हालांकि सेक्स को लेकर तरह-तरह के सवाल सभी के मन में रहते है। इसे लेकर लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर