क्यों : आलीशान मकान, 4 दुकानें होने पर भी आरिफ मांगता रहा था दहेज

अहमदाबाद : अहमदाबाद के आयशा सुसाइड केस में उसका पति आरिफ खान 3 दिन की पुलिस रिमांड पर है। आरिफ पर दहेज मांगने और आयशा को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप है। बताया जाता है कि आरिफ के परिवार की स्थिति बहुत अच्छी है। उनका जालौर (राजस्थान) के पॉश एरिया में आलीशान मकान है। परिवार के पास 4 दुकानें भी हैं, जो किराए पर दी गई हैं। इसके बावजूद आरिफ और उसका परिवार आयशा पर दहेज के लिए दबाव डाल रहा था।

दुकानों से 50 हजार रुपए महीने की कमाई
आरिफ और उसके पिता बाबू खान एक माइनिंग फैक्ट्री में काम करते हैं। दोनों को अच्छी सैलरी मिलती है। इसके अलावा चारों दुकानों से हर महीने लगभग 50 हजार रुपए किराया आता है। आयशा के पिता लियाकत अली का कहना है कि आरिफ उनकी बेटी आयशा को कभी भी मायके छोड़ जाता था। किसी न किसी काम का हवाला देकर आयशा से कहता था कि अपने अब्बू से पैसे मांग लेना। लियाकत अली टेलरिंग का काम करते हैं। उनका परिवार किराए के छोटे से मकान में रहता है। उन्होंने अपना मकान बनाने के लिए रुपए जोड़ रखे थे, उसमें से भी डेढ़ लाख रुपए आरिफ को दे दिए थे।

पूछताछ में सपोर्ट नहीं कर रहा आरिफ
आरिफ को बुधवार दोपहर एडिशनल चीफ मेट्रो कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस ने कोर्ट से 5 दिनों की रिमांड मांगी थी, लेकिन 3 दिन की रिमांड ही मंजूर हुई। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हमें इस मामले में कई जांच करनी है। ऐसे में हमने कोर्ट से 5 दिनों की रिमांड के लिए कहा था। आरिफ पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहा है। ज्यादातर सवालों पर वह चुप्पी साधे रहता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर