बॉलीवुड में घमासान : पायल के खिलाफ लीगल एक्शन की तैयारी में अनुराग कश्यप

मुंबई : अभिनेत्री पायल घोष द्वारा लगाए गए यौन शोषण के आरोप पर फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप अब आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। सूत्रों के मुताबिक अनुराग जल्द ही पायल के ‌खिलाफ लीगल एक्शन लेने वाले हैं। अनुराग ने कोर्ट जाने से पहले अपना पक्ष पूरी तरह मजबूत करने के लिए लगभग एक महीने का समय लगाया। ऐसे में अगर पायल अपने द्वारा अनुराग पर लगाए आरोपों को पुख्ता सुबूतों के साथ नहीं साबित कर पाती हैं तो उन्हें बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ेगा।

अनुराग को है परिवार की चिंता

सूत्रों के अनुसार अनुराग को अपनी नहीं बल्कि परिवार की चिंता है। इन आरोपों से उनके परिवार को ठेस पहुंची है। अनुराग का कहना है कि यह उनकी इज्जत का सवाल है। ये आरोप उन सभी चीजों पर सवाल उठा रहे हैं जिसके लिए वे पूरी जिंदगी खड़े रहे। अनुराग सिर्फ एक झूठ के कारण अपनी प्रतिष्ठा बर्बाद नहीं होने दे सकते हैं। वे तब तक लड़ेंगे जब तक उन्हें न्याय नहीं मिल जाता है।

एक महीने से जुटा रहे थे बेगुनाही के सुबूत

अनुराग के करीबी के अनुसार जब अनुराग शांत होते हैं तो वे अपने काम के लिए पूरी तरह से समर्पित रहते हैं। ऐसे में ‌पिछले एक महीने से उनकी चुप्पी बताती है कि वे अपनी बेगुनाही साबित करने दलीलें नहीं बल्कि ठोस सुबूत जुटा रहे हैं। संभवतः उन्हें इसमें कामयाबी भी मिल गई है।

रिचा से मांगनी पड़ी थी माफी​​​​​​

बात अगर पायल घोष के आरोपों की करें तो उन्होंने इस केस में रिचा चड्ढा का नाम भी लिया था, लेकिन रिचा के द्वारा मानहानि केस फाइल करने के बाद उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी। हाल ही में पायल ने केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले की पार्टी आरपीआई जॉयन की है, जिसमें उन्हें वीमन विंग का वाइस प्रेसिडेंट बनाया गया है। गौरतलब है कि पायल की शिकायत पर मुंबई पुलिस ने अनुराग से करीब 8 घंटे तक पूछताछ की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कांग्रेस की सरकार बनने पर ‘काले कृषि कानूनों’ को निरस्त कर दिया जायेगा: सुरजेवाला

किसानों के संदर्भ में ‘एक देश, एक व्यवहार’ पर अमल करना चाहिए: प्रियंका नयी दिल्ली: कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार को आगे पढ़ें »

सरकार से सशर्त बातचीत चाहते हैं किसान नेता

पुलिस ने सीमा से किसानों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले दागे नयी दिल्ली: अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव एवं भारतीय कम्युनिस्ट आगे पढ़ें »

ऊपर