जम्मू-कश्मीर में पशुपालन अधिकारी ने जागरुकता फैलाने के लिए लिया पैराग्लाइडिंग का सहारा

paragliding

जम्मू : जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले के दुर्गम पहाड़ी इलाकों में पहुंचने के लिए पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने पैराग्लाइडिंग का सहारा लिया। ऐसा करने के पीछे उसका मकसद लोगों को मवेशियों को खुर और मुंह की बीमारी से बचाने के लिए राज्य के मुफ्त टीकाकरण योजना से अवगत कराना था।

पैराग्लाइडिंग का वीडियो हुआ वायरल

जिले की दुर्गम पहाड़ी बस्तियों पर पैराग्लाइडिंग करते जिले के मुख्य पशुपालन अधिकारी रमेश राजदान का एक अनोखा वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह जम्मू क्षेत्र में लाउड स्पीकर पर लोगों से आग्रह कर रहे हैं कि वे अपने मवेशियों को गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए टीका लगवाएं।

क्या है ये बीमारी

पशुओं में होने वाली मुंह पका और खुर पका (एफएमडी) एक बेहद गंभीर और संक्रामक बीमारी है जो सूअर, भेड़, बकरी और जुगाली करने वाले अन्य पशुओं के पैर और मुंह में होती है। रियासी के पशु चिकित्सा विभाग ने एफएमडी के प्रकोप से मवेशियों को बचाने के लिए ‘‘मुफ्त टीकाकरण अभियान’’ शुरू किया है।

प्रशिक्षित पैराग्लाइडर है अधिकारी

इस अनोखे कदम को उठाने वाले राजदान डॉक्टर होने के साथ-साथ एक प्रशिक्षित पैराग्लाइडर भी हैं। जिन्होंने पहाड़ी क्षेत्रों में अधिकतम लोगों तक पहुंचने के प्रयास में इस अनोखे तरीके का सहारा लिया है। वह पहले भी जिले के दारमाड़ी, चासना, माहोरे, अर्नास, ठाकरकोट, पोनी, बामला जैसे कई दुर्गम इलाकों में जा चुके हैं। वहीं मुख्य पशुपालन अधिकारी का कहना है कि उनके विभाग ने 29 जुलाई तक कम से कम 1.75 लाख पशुओं के टीकाकरण का लक्ष्य तय किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर