इनको छोड़ सभी विदेशी नागरिक आ सकते हैं भारत, सरकार ने वीजा पर रोक हटाई

नई दिल्‍ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विदेशी नागरिकों को भारत आने की छूट दे दी है। टूरिस्‍ट वीजा को छोड़कर किसी भी अन्‍य उद्देश्य से विदेशी भारत आ सकेंगे। दरअसल, मंत्रालय ने गुरुवार को कोरोना गाइडलाइंस में संसोधन करते हुए इलेक्ट्रॉनिक, पर्यटन और चिकित्सा श्रेणियों को छोड़कर सभी मौजूदा वीजा तत्काल प्रभाव से बहाल करने का फैसला किया है। साथ ही सभी ओसीआई व पीआईओ कार्ड धारकों को भी देश में आने की अनुमति दे दी गई है। वहीं इलाज के लिए भारत आने वाले विदेशी मेडिकल वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि भारत में विदेशी नागरिकों की एंट्री मार्च में लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही बंद कर दी गई थी।

मेडिकल वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं विदेशी नागरिक
गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए सरकार ने फरवरी, 2020 से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की आवाजाही को रोकने के लिए कई कदम उठाए थे। अब सरकार ने देश में प्रवेश करने या बाहर जाने के लिए विदेशी नागरिकों और भारतीय नागरिकों की अधिक श्रेणियों के लिए वीजा और यात्रा प्रतिबंधों में छूट देने का निर्णय लिया है, जिसके तहत सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक वीजा, पर्यटन वीजा और मेडिकल वीजा को छोड़कर सभी मौजूदा वीजा को तत्काल प्रभाव से बहाल करने का फैसला किया है। यदि ऐसे वीजा की वैधता समाप्त हो गई है, तो उपयुक्त श्रेणियों के ताजा वीजा भारतीय मिशन या संबंधित पोस्ट से प्राप्त किए जा सकते हैं। बयान में यह भी कहा गया कि चिकित्सा उपचार के लिए भारत आने के इच्छुक विदेशी नागरिक अपने चिकित्सा परिचारकों सहित, एक चिकित्सा वीजा के लिए नए सिरे से आवेदन कर सकते हैं। मालूम हो कि कोरोनो महामारी के बाद फरवरी में वीजा पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, 25 मार्च से देश में लॉकडाउन लागू होने पर कॉमर्शियल उड़ान संचालन निलंबित कर दिया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विराट अच्छे कप्तान लेकिन रोहित उनसे बेहतर : गंभीर

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने टी-20 टीम कप्तानी पांच बार के आईपीएल विजेता रोहित शर्मा को सौंपने की आगे पढ़ें »

साढ़े चार महीनों में 22 कोविड-19 जांच करायी : गांगुली

मुंबई : बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने मंगलवार को खुलासा किया कि महामारी के बीच अपनी पेशेवर प्रतिबद्धताओं को पूरा करने आगे पढ़ें »

ऊपर