नरेंद्र गिरि : सीबीआई जांच के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर

उत्तरप्रदेश : निरंजनी अखाड़े के महंत और अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद मामला लगातार उलझता ही जा रहा है। पुलिस ने महंत को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में उनके शिष्य योगगुरु आनंद गिरि, लेटे हुए हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, अब महंत के अंतिम संस्कार की भी तैयारियां की जा रही हैं। उनके पार्थिव शरीर को मंगलवार यानी आज बाघंबरी गद्दी मठ में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। सीएम योगी और अखिलेश यादव सहित कई लोग दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं।
आनंद गिरी को लेकर प्रयागराज पहुंची पुलिस
योग गुरु आनंद गिरी को यूपी पुलिस हरिद्वार से लेकर प्रयागराज पहुंच गई है। पुलिस सिविल लाइन थाने में ले जाकर उनसे पूछताछ कर रही है।
सीबीआई जांच के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर
महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की सीबीआई जांच के लिए अधिवक्ता सुनील चौधरी की ओर से हाईकोर्ट में एक याचिका डाली गई है। याचिका के माध्यम से जिले के डीएम और एसएसपी को तत्काल बर्खास्त कर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई को सुपुर्द करने की मांग की गई है। अधिवक्ता की ओर से कुछ अधिकारियों पर भी इस मामले में मिलीभगत होने का आरोप लगाया है। कहा कि बिनी सीबीआई के पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच नहीं की जा सकती। स्थानीय पुलिस अधिकारी मामले में लीपापोती कर सकते हैं।
गुरु-शिष्य के बीच समझौता कराने वाले अधिकारी से भी हो सकती है पूछताछ
महंत नरेंद्र गिरि और उनके शिष्य योग गुरु आनंद गिरि के बीच लंबे समय तक विवाद चला था, जिसके बाद दोनों के बीच समझौता हो गया था। अब महंत की मौत के बाद गुरु-शिष्य के बीच समझौता कराने वाले एक अधिकारी का नाम चर्चा में है। भावना जाहिर की जा रही है कि इस अधिकारी को भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।
मामले से जुड़ी हर घटना का होगा पर्दाफाश: सीएम योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंतिम दर्शन के बाद कहा कि महंत नरेंद्र गिरि से जुड़े हर घटना का पर्दाफाश होगा। बुधवार को उनका पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने इस मामले में बेवजह की बयानबाजी से परहेज करने को कहा है।
साधु संत चाहेंगे तो सीबीआई जांच होगी: मौर्य
श्रद्धांजलि देने पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने अंतिम दर्शन के बाद कहा कि साधु संत चाहेंगे तो इस मामले की सीबीआई जांच होगी। कांग्रेस को हर चीज में राजनीति दिखती है। वहीं, मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पर हमारा अनशन जारी रहेगा : कहा हाई कोर्ट में

आरजीकर के आंदोलनकारी छात्र 29 को मिलेंगे स्वास्थ्य सचिव से सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : हाई कोर्ट के जस्टिस देवांशु बसाक और जस्टिस रवींद्रनाथ सामंत के डिविजन बेंच आगे पढ़ें »

ऊपर