अजीत डोभाल ने चीन को दी चेतावनी! कहा-जहां से खतरा होगा, वहीं करेंगे मुकाबला

नयी दिल्ली : भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने रविवार को चीन को कड़े शब्दों में चेतावनी दी है। चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी तनाव के बीच डोभाल उत्तराखंड के ऋषिकेश में परमार्थ निकेतन आश्रम के संतों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नया भारत नए तरीके से सोचता है और हम भारत में ही नहीं बल्कि विदेशी धरती पर भी लड़ेंगे। हमें जहां भी खतरा दिखेगा, हम वहां प्रहार करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि हम किसी पर भी पहले आक्रमण नहीं करते , लेकिन देश को बचाना आवश्यक होता है। हम वहीं लड़ेंगे जहां पर आपकी इच्छा है, यह जरूरी तो नहीं। हम वहीं लड़ेंगे जहां से हमारे ऊपर खतरा आ रहा है और हम उस खतरे का मुकाबला वहीं करेंगे।

हम युद्ध अपनी जमीन पर भी करेंगे और बाहर भी करेंगे
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल ने कहा कि हमने अपने स्वार्थ के लिए युद्ध नहीं किया। हम युद्ध तो करेंगे। अपनी जमीन पर भी करेंगे और बाहर भी करेंगे लेकिन अपने निजी स्वार्थ के लिए नहीं बल्कि परमार्थ के लिए करेंगे। सूत्रों की माने तो डोभाल ने अपने बयान के जरिए पाकिस्तान और चीन को कड़े शब्दों में चेतावनी दी। हालांकि, आधिकारिक सूत्र इससे अलग राय रखते हैं। डोभाल के बयान के बाद आधिकारिक सूत्रों ने स्पष्ट किया है कि उन्होंने जो कुछ भी कहा, वह सभ्यता के संदर्भ में था। उनकी टिप्पणी मौजूदा संदर्भ में किसी के खिलाफ नहीं है।

चीनी दिया था राष्ट्रवादी बयान
मालूम हो कि गत् दिनों चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कोरियाई युद्ध की सालगिरह पर राष्ट्रवादी संदेश देते हुए कहा था कि हम कभी राष्ट्रीय संप्रभुता, सुरक्षा और विकास हितों को नुकसान पहुंचाने की किसी को अनुमति नहीं देंगे। जिनपिंग ने यह भी कहा था कि हम किसी को अपने देश में घुसपैठ और हमारी पवित्र मातृभूमि के विभाजन की इजाजत नहीं देंगे। अगर ऐसी कोई गंभीर परिस्थिति आती है तो चीनी लोग निश्चित रूप से इसका प्रतिकार करेंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि चीनी राष्ट्रपति का यह बयान भारत, अमेरिका या ताइवान के लिए हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

महामारी के बीच ध्रुवीकरण नहीं, समावेशी वृद्धि की जरूरत : ममता

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के बीच ध्रुवीकरण के बजाय समावेशी वृद्धि की जरूरत है। गुरुवार को एबीपी द्वारा आगे पढ़ें »

modis

23 काे बंगाल आ सकते हैं पीएम

कोलकाता : विश्वभारती विश्वविद्यालय के प्रबंधन की ओर से अपने स्थापना दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आने का न्योता दिये जाने का निर्णय लिया आगे पढ़ें »

ऊपर