मौत के 15 दिन बाद तक बताया जिंदा, बच्चों को हालचाल देते रहे डॉक्टर

मेरठः पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़े मेडिकल कॉलेजों में शुमार मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है। जहां गाजियाबाद निवासी एक वृद्ध की मौत के बाद हॉस्पिटल के डॉक्टर मृतक की बेटी को फोन पर लगातार उसके बाप के हाल-चाल का अपडेट देते रहे। जबकि वृद्ध की मौत के बाद पुलिस शव को लावारिस मानकर उसका अंतिम संस्कार भी कर चुकी थी। जानकारी के मुताबिक मूल रूप से बरेली निवासी संतोष कुमार गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन में अपनी बेटी शिखा शिवांगी और दामाद अंकित के साथ रहते थे। शिखा के मुताबिक 21 अप्रैल को उनके पिता संतोष को घर में बाथरूम में गिरने के कारण चोट लग गई थी। इस दौरान गाजियाबाद के हॉस्पिटल में उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसके बाद संतोष को मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज की आईसीयू टू में भर्ती कराया गया था।
 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेट कंट्रोल के साथ आपके मन को शांत रखती हैं ये पांच छोटी-छोटी बातें

कोलकाताः मन अशांत रहने का असर हमारे खाने-पीने की आदतों पर भी पड़ता है। मौजूदा समय में जिस तरह दुनिया अस्त-व्यस्तता से गुजर रही है, उसकी आगे पढ़ें »

बच्चों व महिलाओं के लिए 10 हजार बेड तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

बच्चों के लिए स्पेशल कोविड बेड हर अस्पताल में थर्ड वेव के मद्देनजर तैयारियां जोरों पर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी के सेकंड वेव ने स्वास्थ्य आगे पढ़ें »

ऊपर