आईटीबीपी कैंप में एक जवान ने अपने 5 साथियों को गोली मारी,खुद की भी ली जान

सन्मार्ग संवाददाता,नारायणपुर/कोलकाता : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले के कड़ेनार स्थित भारत तिब्बत सीमा पुलिस के कैंप में तैनात एक जवान ने बुधवार सुबह अपने ही साथियों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिससे छह जवानों की मौत हो गयी और दो अन्य जवान घायल हो गये। मृतकों में तीन जवान पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे। जिस जवान ने इस कांड को अंजाम दिया, वह भी बंगाल का रहने वाला था।
साथी जवानों ने मजाक किया
बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने बताया कि जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर कड़ेनार इलाके में भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवान नक्सल प्रभावित इलाकों में तैनात हैं। उन्होंने बताया कि कांस्टेबल मसदुल रहमान को दिसंबर के अंत में पारिवारिक समारोह में छुट्टियों पर जाना था। इसके लिए उसने लंबी छुट्टी की मांग की थी लेकिन उसकी छुट्टियां मंजूर नहीं हो पायी थी। इसे लेकर सुबह 8:45 बजे साथी जवानों ने मजाक किया तो वह गुस्से में आ गया और फायरिंग कर दी। सुंदरराज ने बताया कि पुलिस जांच में यह भी पता चला है कि आपसी फायरिंग में नहीं बल्कि सिर्फ एक ही जवान की फायरिंग में सभी जवानों की मौत हुई है।
खुद को भी मार ली गोली
उन्होंने बताया कि मरने वाले जवानों में शामिल कांस्टेबल मसदुल रहमान ने ही गुस्से में आकर फायरिंग शुरू की जिसमें सभी जवान मारे गये। आखिर में रहमान ने खुद को भी गोली मार ली। जवान ने अपनी एके-47 से साथी जवानों पर गोली चलायी है। इस फायरिंग में दो अन्य जवान गंभीर रूप से घायल हो गये। घायल जवानों को नारायणपुर ले जाया गया, वहां से दोनों को उपचार के लिए रायपुर ले जाया गया।
मारे गये जवानों की पहचान
मृतकों जवानों की पहचान हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह निवासी ग्राम संदियार जिला बिलासपुर हिमाचल प्रदेश, हेड कांस्टेबल दलजीत सिंह निवासी ग्राम जागपुर जिला लुधियाना पंजाब, कांस्टेबल मसदुल रहमान निवासी ग्राम बिलकुमरी जिला नदिया पश्चिम बंगाल, कांस्टेबल सुरजीत सरकार निवासी ग्राम नॉर्थ श्रीरामपुर जिला बर्दवान पश्चिम बंगाल, कांस्टेबल विश्वरूप महतो निवासी ग्राम खुरमुरा जिला पुरुलिया पश्चिम बंगाल और बिजेस निवासी ग्राम इरावाट्टोर जिला कोझिकोड केरल के रूप में हुई है। वहीं कांस्टेबल उल्लास निवासी ग्राम पुलिमठ जिला तिरुवनंतपुरम केरल, कांस्टेबल सीता राम दून निवासी ग्राम नायाबास जिला नागौर राजस्थान है, जिनका इलाज रायपुर में चल रहा है।
जवानों में तनाव जैसी कोई बात नहीं
राज्य के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि जवानों में तनाव जैसी कोई बात नहीं है। उन्हें समय पर छुट्टी व अन्य सुविधाएं मिलती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राममंदिर के शिलान्यास के अवसर पर अपने घरों में दीपावाली मनाएं : रावत

देहरादून : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पांच अगस्त को अयोध्या में राममंदिर निर्माण हेतु भूमिपूजन के अवसर पर प्रदेश की जनता से आगे पढ़ें »

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान हुए कोरोना संक्रमित

नयी दिल्ली : केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ट्वीट में प्रधान आगे पढ़ें »

ऊपर