विधानसभा चुनाव में 800 कंपनी केंद्रीय सुरक्षाबल का उपयोग हो सकता है

कोलकाताः राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर गहमागहमी बढ़ती जा रही है। चुनाव आयोग के सूत्रों की मानें तो कोरोना काल में किस प्रकार आगामी दिनों में विधानसभा चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न होगा, इस पर आयोग के अधिकारी तत्पर हैं। इसे लेकर अक्सर ही वीडियो कान्फ्रेंसिंग सीधे दिल्ली निर्वाचन आयोग के अधिकारियों से हो रही है। सूत्रों की मानें तो सोमवार को ही एक वीडियो कान्फ्रेंसिंग की गई है। इस दौरान चुनाव कराने को लेकर कई मुद्दों पर चर्चा भी हुई है। अगले साल होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय बलों की लगभग 800 कंपनियों का इस्तेमाल किया जा सकता है।
विधानसभा चुनाव की बढ़ रही गहमागहमी
सूत्रों का दावा है कि आयोग की शुरुआती योजना में यह बात सामने आई है। कोविड -19 वोट के आयोजन की चर्चा में है। दरअसल, शुक्रवार को 27 नवंबर को राज्य के सभी जिला अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक से पहले विभिन्न मुद्दों पर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय (सीईओ) की ओर से स्थिति स्पष्ट की जा रही है। किस प्रकार से चुनाव कराए जाएंगे, मतगणना केंद्र, मतदाताओं की सुरक्षा सहित अनेक बिंदुओं पर चर्चा हुई है।
हेलिकॉप्टर की संख्या बढ़ाना चाहता है आयोग
उस स्थिति में, आयोग अगले साल के राज्य विधानसभा चुनावों के लिए हेलीकॉप्टरों की संख्या बढ़ाना चाहता है। इसके अलावा, वे मतदान की अवधि के दौरान एयर एम्बुलेंस के प्रावधान पर भी जोर दे रहे हैं। जिस प्रकार से राज्य में 2019 के लोकसभा चुनाव आगे बढ़े, केंद्रीय बलों की संख्या बढ़ गई। करीब 745 केंद्रीय बल की कंपनियों का उपयोग उक्त चुनाव में हुआ था। लोकसभा चुनावों में केंद्रीय बल अधिक चौकस थे। उस दौरान अंत में करीब 98-99 प्रतिशत बूथों पर ही केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती थी। चुनाव आयोग कोरोना वायरस की स्थिति में हेलीकॉप्टरों की संख्या भी बढ़ाना चाहता है। इस पर चर्चा पहले ही हो चुकी है। हेलिकॉप्टरों का उपयोग 2019 के लोकसभा चुनावों में बड़े पैमाने पर आयोग द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षकों द्वारा किया गया था। आयोग कोविड -19 स्थिति को ध्यान में रखते हुए हेलीकॉप्टरों के साथ-साथ एयर एंबुलेंस को भी तैयार रखना चाहता है, ताकि हर परिस्थिति से निपटा जा सके।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘जय श्री राम’ का नारा कहीं जानबूझ कर तो नहीं लगाया गया !

आगामी विस चुनाव पर पड़ सकता है खासा असर भाजपा के लिए बना चुनावी हथकंडा कोलकाता : ऐसा पहली बार नहीं है। पहले भी जय श्रीराम सुनकर आगे पढ़ें »

रविवार को करे ये काम, सफलता होगी साथ

नई दिल्ली : ज्योतिष के मानें तो रविवार को सुबह-सुबह इस उपाय को करने से पूरे सप्ताह सफलता अपके कदम चूमेगी। ऐसी मान्यता है कि आगे पढ़ें »

ऊपर