अगस्त 2019 में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी , 2020 तक शुरू होगी सेवा

नई दिल्ली: मोबाइल उपभोत्ता और इंटरनेट के यूजर्स के लिए कुछ वक्त या फिर कुछ महिनोें का इंतजार बहुत ही सुखद होने वाला है। सरकार ने उम्मीद जताई है कि 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी अगले साल अगस्त तक पूरी हो जाएगी। इसके साथ ही 2020 के आरम्भ में पांचवीं पीढ़ी की मोबाइल सेवा शुरू हो जाएगी।
दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने शुरुआती सिफारिशों का ब्यौरा दिया है और दूरसंचार विभाग की कार्य समिति इस पर गौर कर रही है। कार्यबल को व्यापक स्पेक्ट्रम बैंड जिस पर हमें काम करना है उसकी इको-सिस्टम (पारिस्थितिकि तंत्र) तैयार नहीं है।दूरंसचार उद्योग में वित्तीय संकट का हवाला देते हुए ऑपरेटर वोडाफोन-आइडिया ने दूरसंचार विभाग से 2020 तक स्पेक्ट्रम नीलामी नहीं करने का आग्रह किया है। ट्राई ने रविवार को 4.9 लाख करोड़ रुपये के आधार मूल्य पर 8,644 मेगाहर्ट्ज के स्पेक्ट्रम की बिक्री करने को कहा है। दूरसंचार मंत्रालय की 5जी पर समिति ने कहा है कि करीब 6,000 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम अगली पीढ़ी की मोबाइल सेवाओं को उपलब्ध कराया जाएगा। समिति ने जिन 5जी सेवाओं के लिए 11 बैंड की पहचान की है उनमें से चार बैंड प्रीमियम 700 मेगाहर्ट्ज, 3.5 गीगाहर्ट्ज, 24 गीगाहर्ट्ज और 28 गीगाहर्ट्ज की सेवा है।











शेयर करें

मुख्य समाचार

ruhani

ईरानी राष्ट्रपति रूहानी बोले- अमेरिका ने हम पर प्रतिबंध लगाकर मानवता के खिलाफ अपराध किया

तेहरान : ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को अमेरिका द्वारा उनके देश पर लगाए गए प्रतिबंध को लेकर कहा कि यह मानवता पर आगे पढ़ें »

पूर्व पीएम और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के समय में ‘सबसे बुरे दौर में’ थी अर्थव्यवस्था: वित्तमंत्री

नई दिल्ली : भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की हालत पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के समय में 'सबसे बुरे आगे पढ़ें »

ऊपर