4 बजे रेल मंत्रालय करेगा प्रेस कांफ्रेंस

नयी दिल्ली : सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 4 बजे रेल मंत्रालय प्रेस कांफ्रेंस करेगा। इसके तहत नयी दिशा निर्देश जारी किया जा सकता है। 1 जून से चलने वाली 200 ट्रेनों से संबंधित गाइडलाइन व संबंधित निर्देश भी बताये जा सकते है।
पूर्व-मध्य रेल 01 जनू से शुरू करेगा 22 ट्रेनों का परिचालन
लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों की मदद के लिए पूर्व-मध्य रेल (ईसीआर) 01 जून से अलग-अलग स्टेशनों 22 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन शुरू करेगा। ईसीआर में मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने गुरुवार को बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और गृह मंत्रालय के परामर्श से रेल मंत्रालय 01 जून 2020 से ट्रेन सेवाओं की आंशिक बहाली शुरू कर रहा है। इस क्रम में रेलवे द्वारा नियमित ट्रेनों के पैटर्न पर महत्पूर्ण स्टेशनों के लिए 200 स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा, जिसकी बुकिंग गुरुवार से शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि ये विशेष सेवा 01 मई से वर्तमान में चलाई जा रही श्रमिक एक्सप्रेस और 12 मई से चल रही 15 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी। अन्य सभी मेल, एक्सप्रेस एवं उपनगरीय नियमित सेवाएं अगले निर्देश तक रद्द रहेंगी। श्री कुमार ने बताया कि इन 200 ट्रेनों में से 22 जोड़ी ट्रेनें पूर्व-मध्य रेल क्षेत्राधिकार के विभिन्न महत्वपूर्ण स्टेशनों से खुलेंगी या पहुंचेगी। साथ ही ईसीआर के अलग-अलग स्टेशनों से होकर दूसरे क्षेत्रीय रेलों को जाने वाली नौ और स्पेशल ट्रेनें हैं, जो पूर्व मध्य रेल के क्षेत्राधिकार से गुरजेंगी। उन्होंने बताया कि इन 22 ट्रेनों में लोकमान्य तिलक टर्मिनल-दरभंगा पवन एक्सप्रेस, दानापुर-बेंगलुरु संघमित्रा एक्सप्रेस, नई दिल्ली-राजगीर श्रमजीवी एक्सप्रेस, नई दिल्ली-राजेन्द्रनगर टर्मिनल संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस, आनंदविहार टर्मिनल-बापूधाम मोतिहारी चंपारण सत्याग्रह एक्सप्रेस, दानापुर-सिकंदराबाद एक्सप्रेस, टाटा-दानापुर एक्सप्रेस और अहमदाबाद-दरभंगा साबरमती एक्सप्रेस शामिल हैं।
बंगाल ने ट्रेन भेजने से किया मना
इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रेल मंत्रालय से चक्रवात ‘अम्फान’ के मद्देनजर 26 मई तक राज्य में श्रमिक स्पेशल ट्रेनें नहीं भेजने को कहा है। पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा की तरफ से रेलवे बोर्ड के प्रमुख वी के यादव को 22 मई को लिखे गए पत्र में कहा गया कि राज्य 20 और 21 मई को महा चक्रवात ‘अम्फान’ से बुरी तरह प्रभावित हुआ है जिससे अवसंरचना को अत्यंत नुकसान हुआ है। चक्रवात अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में कम से कम 86 लोगों की मौत हो गई है। चक्रवात के कारण जनजीवन प्रभावित होने के बाद अधिकारी स्थिति को सामान्य करने के प्रयासों में जुटे हुए हैं। कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए श्रमिक विशेष रेलगाड़ी सेवा शुरू करने के बाद सबसे कम रेलगाड़ियां पश्चिम बंगाल में ही भेजी गई हैं। दरअसल, गृह मंत्री अमित शाह ने एक पत्र में आरोप लगाया था कि बंगाल अपने प्रवासियों को लौटने की अनुमति नहीं दे रहा है। बाद में यह तय किया गया कि इन ट्रेनों के परिचालन के लिए गंतव्य राज्य की सहमति लेना जरूरी नहीं है। एक मई से अब तक करीब 2,000 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं जिनमें 31 लाख प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुंचाया गया। बंगाल में अब तक करीब 25 रेलगाड़ियां आईं हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मौजूदा भारतीय हॉकी टीम में विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और ड्रैग फ्लिकर: रघुनाथ

बेंगलुरू : पूर्व हॉकी खिलाड़ी वीआर रघुनाथ का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम के पास विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और स्तरीय ड्रैग फ्लिकर हैं और टीम आगे पढ़ें »

आईसीसी बोर्ड की बैठक : बीसीसीआई, सीए में होगी टी20 विश्व कप बदलने पर चर्चा

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की शुक्रवार को होने वाली बोर्ड बैठक के आगे पढ़ें »

ऊपर