36 मंत्रियों के कश्मीर दौरे पर गुलाम नबी ने तंज कसा

नई दिल्लीः जम्मू-कश्मीर में 36 मंत्रियों दौरे को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने इस पर टिप्पणी की। आजाद ने इस दौरे पर केंद्र सरकार की दुनिया को गुमराह करने की तीसरी कोशिश करार देते हुए कहा, ‘ये केंद्र सरकार की तरफ से देश और दुनिया को गुमराह करने की तीसरी कोशिश है।” कांग्रेस नेता ने कहा, “केंद्र सरकार ने इससे पहले भी सरकार ने कुछ चुने हुए लोगों को देश और विदेश से कश्मीर भेजा, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला, इससे जम्मू-कश्मीर की जनता में नाराजगी और बढ़ गई।

मौजूदा हालातों का जायजा लेंगे
गुलाम नबी ने आरोप लगाते हुए कहा, ये प्रतिनिधिमंडल कुछ चुने हुए लोगों से ही मिलते हैं, जो राजनीतिक नेता हैं उनको तो बंद रखा गया है, सिविल सोसाइटी के लोगों से, व्यापारियों से और बेरोजगारों से इन्हें मिलने नहीं दिया जाता। दरअसल, आर्टिकल 370 हटाए जाने और जम्मू कश्मीर से केंद्र शासित प्रदेशों के विभाजन के बाद मोदी सरकार के 36 केंद्रीय मंत्री 18 जनवरी से जम्मू कश्मीर का दौरे पर हैं। ये केंद्रीय मंत्री जम्मू कश्मीर के लोगों से बातचीत करेंगे और वहां के वर्तमान हालातों का जायजा लेंगे।

कश्मीर में सिर्फ 8 दौरे
केंद्रीय मंत्री शनिवार से 24 जनवरी तक जम्मू-कश्मीर का दौरा कर लोगों को सरकार की नीतियों, खासतौर पर अनुच्छेद 370 रद्द किए जाने के बाद पिछले पांच महीनों में अपनाई गईं नीतियों के बारे में बताएंगे। 36 केंद्रीय मंत्रियों के लिए कुल 59 दौरों की प्लानिंग की गई है और ये एक हफ्ते के अंदर होना है। 59 दौरों में से 51 दौरे जम्मू में प्लान किए गए हैं जबकि कश्मीर के लिए सिर्फ 8 दौरे प्लान किए गए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

uno

कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को भारत ने किया नामंजूर

नई दिल्ली : संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस की ओर से कश्मीर मुद्दे को लेकर दिए गए मध्यस्थता के प्रस्ताव को भारत ने ठुकरा आगे पढ़ें »

army

सुप्रीम कोर्ट ने सेना में महिलाओं के स्थायी कमीशन को मंजूरी दी

नई दिल्ली : सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन देने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले पर शीर्ष न्यायालय ने भी मुहर लगा दी आगे पढ़ें »

ऊपर