… 300 सांसद, 394 के पास स्नातक की डिग्री

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा के सभी 542 सीटों के नतीजे घोषित हो गए हैं। नयी लोकसभा में 300 ऐसे सदस्य हैं जो पहली बार सदन के लिए निर्वाचित हुए हैं। इनमें गौतम गंभीर, रविशंकर प्रसाद, हंस राज हंस, सन्नी देओल जैसी चर्चित हस्तियां शामिल हैं। थिंक टैंक पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च (पीआरएस) के अनुसार पिछली यानी 16वीं लोकसभा में 314 सांसद ऐसे थे जो पहली बार चुने गए थे। इस बार 197 मौजूदा सांसद फिर से निर्वाचित हुए हैं।
नवनिर्वाचित 394 सांसदों के पास स्नातक की डिग्री
लोकसभा में नवनिर्वाचित 394 सांसद स्नातक स्तर तक पढ़े-लिखे हैं। पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च नामक एक थिंक-टैंक से यह जानकारी मिली है। 17वीं लोकसभा के 27 फीसदी सांसद 12वीं तक पढ़े हैं। वहीं 16वीं लोकसभा के 20 फीसदी सांसद 12वीं तक पढ़े थे। पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार नवनिर्वाचित सांसदों में 43 फीसदी सांसदों के पास स्नातक डिग्री है। 25 फीसदी सांसदों के पास परास्नातक डिग्री है और चार फीसदी सांसदों के पास पीएचडी की डिग्री है।
12 प्रतिशत सांसदों की आयु 40 साल से कम
नवनिर्वाचित लोकसभा के करीब 12 प्रतिशत सदस्यों की उम्र 40 साल से कम की है। यह जानकारी एक थिंकटैंक ने दी है। 16वीं लोकसभा में आठ प्रतिशत सांसद थे जिनकी उम्र 40 साल से कम थी। 17वीं लोकसभा में 12 प्रतिशत सांसदों की उम्र 40 साल से कम की है। इसके अलावा, 17वीं लोकसभा में महिला सांसदों की उम्र औसतन आधार पर पुरुष सांसदों के मुकाबले छह साल कम है।
नयी लोकसभा में महिला सांसदों की भागीदारी 17 प्रतिशत
17वीं लोकसभा के विजयी उम्मीदवारों में महिलाओं की कुल संख्या 78 है। महिला सांसदों की अब तक की इस सर्वाधिक भागीदारी के साथ ही नयी लोकसभा में महिला सांसदों की संख्या कुल सदस्य संख्या का 17 प्रतिशत हो जायेगी। महिला सांसदों की सबसे कम संख्या नौवीं लोकसभा में 28 थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में कोरोना के 1390 आये नये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1390 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

भारत में अल्पपोषित लोगों की संख्या छह करोड़ घटकर 14 प्रतिशत पर पहुंची : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र : भारत में पिछले एक दशक में अल्पपोषित लोगों की संख्या छह करोड़ तक घट गई है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में आगे पढ़ें »

ऊपर