सिर्फ मजे के लिए छोड़ी 29 लाख प्रति महीने की नौकरी

नई दिल्‍ली : ओटीटी प्‍लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स में नौकरी करने वाले एक इंजीनियर की सालाना सैलरी 3.4 करोड़ रुपए ($450,000) से भी अधिक थी। इसके बावजूद भी उन्‍होंने नौकरी छोड़ दी। दरअसल, इंजीनियर का प्रोफेशनल लाइफ सही नहीं चल रहा था। वहां उनके मनमुताबिक चीजें नहीं हो रही थीं। जिसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़ने का ही फैसला कर लिया। अब उन्होंने खुद का बिजनेस शुरू किया है और वह इससे काफी संतुष्‍ट हैं। एक रिपोर्ट मुताबिक, शख्‍स का नाम माइकल लिन है। लिन ने साल 2017 में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर नेटफ्लिक्स में प्रमोशन के साथ नौकरी शुरू की, इससे पहले वो अमेजन में नौकरी कर रहे थे। लिन ने बताया, जब नौकरी की शुरुआत हुई तो मुझे लगा मैं हमेशा नेटफिल्‍क्‍स के साथ रहूंगा। जहां सालाना पैकेज तो शानदार था ही, खाना भी फ्री मिलता था। यहां अनलिमिटेड पेड टाइम ऑफ की भी सुविधा थी। कुल मिलाकर उनको एक महीने में 29 लाख रुपए वेतन के रूप में मिलते थे।
मई 2021 में छोड़ी नौकरी
चार साल के बाद लिन ने मई 2021 में अपनी यह नौकरी छोड़ दी तो कई लोग हैरान रह गए। लोगों को लगा कि वह पागल हैं। यहां तक लिन के माता-पिता ने भी इस बात पर आपत्ति जताई। लिन के मेंटर ने भी उनके कदम पर ऐतराज जताया। लिन के मेंटर ने कहा था कि इतनी अच्‍छी सैलरी होने के बावजूद उन्‍हें नौकरी तब तक नहीं छोड़नी चाहिए थी, जब तक उनके हाथ कोई दूसरी नौकरी नहीं लग जाती। तीन दिन तक वह इस बात को सोचते रहे, लेकिन फिर उन्‍होंने अपने मैनेजर से नौकरी छोड़ने को लेकर बात कीं लिन ने बताया कि तब से 8 महीने बीत चुके हैं। उन्‍हें लगता है कि नौकरी छोड़ने का फैसला सही है।
लिन ने बताया कि वह प्रोडक्‍ट मैनेजमेंट की तरफ शिफ्ट होना चाहते थे। नेटफिल्‍क्‍स में रहते हुए भी उन्होंने प्रोडक्ट मैनेजर के लिए अप्‍लाई किया था, लेकिन सफलता नहीं मिली। उन्‍होंने बताया कि कंपनी में भी कोई ऐसा प्रोसेस नहीं था कि वह खुद का रोल बदल सकें। लिन ने इस बात पर भी गौर किया कि कोई भी इंजीनियर, प्रोडक्‍ट मैनेजमेंट की तरफ शिफ्ट नहीं हो पाया था।
लिन ने बताया कि प्रोडक्‍ट मैनेजर बनना आपे से बाहर की चीज हो चुकी थी। जब नेटफिल्‍क्‍स में नौकरी शुरू की तो उन्‍होंने खूब पैसे बनाए, कई नई चीजें सीखीं। लेकिन, उन्‍हें करियर में कोई प्रगति नहीं दिख रही थी। उनकी टीम का जो लक्ष्‍य था वह लिन के करियर से मिलान नहीं करता था। टीम का फोकस इंजीनियरिंग माइग्रेशन पर था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

माओवादियों के नाम पर आतंक फैलाने के आरोप में एक होमगार्ड समेत 6 गिरफ्तार

झाड़ग्राम: माओवादियों के नाम से लोगों को पत्र लिख व फोन कर धमकी देने व उगाही करने के आरोप में पुलिस ने एक होमगार्ड समेत आगे पढ़ें »

ऊपर