8 महीने तक 22 साल की लड़की का बंधक बनाकर होता रहा रेप, फिर…

बरनालाः पंजाब के बरनाला शहर में एक बार फिर इंसानियत शर्मसार हुई है। 22 वर्षीय युवती को 8 महीने तक बंधक बनाकर बलात्कार क‍िया गया। पुलिस द्वारा पीड़िता के बयान के आधार पर दो महिलाओं सहित सात लोगों पर किया मामला दर्ज क‍िया गया। इन 7 लोगों में एक शिरोमणि अकाली दल का नेता है।
वहीं पुलिस द्वारा पीड़िता को डराने धमकाने के आरोप में तीन थानेदारों को सस्पेंड कर द‍िया गया। पुलिस द्वारा पीड़िता का मेडिकल टेस्ट कराया गया और मजिस्ट्रेट द्वारा पीड़िता के बयान दर्ज क‍िए गए। पीड़िता एवं उनके परिजनों ने सभी आरोपियों एवं धमकी देने वाले पुलिस अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की मांग की। वहीं पीड़िता एवं उसके परिजनों ने खुद की जान को खतरा बताते हुए पुलिस सुरक्षा मांगी।
क्या है मामला?
इस मामले की जानकारी देते हुए पीड़‍िता के भाई ने बताया कि बीते साल 24 जून 2020 को उनके घर किराए पर रहने वाली एक महिला उनकी बहन को बहला-फुसलाकर अकाली दल के नेता के भाई के घर ले गई जहां पर पहले से शिरोमणि अकाली दल का नेता, एक तथाकथित बाबा और कुछ महिलाओं सहित 20 से 25 लोग मौजूद थे।
वहां पर उसे पीने के लिए कोल्ड ड्रिंक दिया गया जिसे पीने के बाद उनकी बहन को होश नहीं रहा। उसी दिन उनकी बहन के साथ शिरोमणि अकाली दल के नेता, तथाकथित बाबा एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा बलात्कार किया गया।

जबरदस्ती शादी करवा दी गई
भाई ने बताया क‍ि उनकी बहन को 17 दिन बरनाला जिले के गांव पंधेर में रखा गया और उसके बाद जिला संगरूर के एक गांव में 3 दिन रखा गया। उसके बाद उनकी बहन को बठिंडा लेकर जाया गया जहां पर उसकी जबरदस्ती शादी करवा दी गई और 70 हजार रुपये शादी की एवज में आरोपियों ने लिए थे। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने इस संबंधी शिकायत बरनाला में दर्ज करवाई तो थानेदार द्वारा उसे पैसों की मांग की गई जिसके बाद उन्होंने एसएसपी बरनाला से मिलने की कोशिश की लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया गया। इसके बाद उनका केस किसी अन्य थानेदार को दे दिया गया। बरनाला पुलिस के तीन थानेदारों द्वारा उनकी बहन को आरोपियों के हक में बयान देने के लिए डराया धमकाया गया, जब उनकी बहन को बठिंडा में रखा हुआ था तो उसे 3 लाख रुपये में बेचने की बातचीत चल रही थी जिसको उनकी बहन ने सुन लिया और वह किसी तरह वहां से निकल कर भाग आई और अपनी मां को संपर्क किया।
भाई ने बताया कि जब वह अपनी बहन को लेने गए तो वह नशे की हालत में थी और उसके बाद उन्होंने अपनी बहन को सरकारी अस्पताल बरनाला में दाखिल करवाया। उन्होंने इस पूरे मामले में शिरोमणि अकाली दल के नेता, तथाकथित बाबा एवं बरनाला पुलिस के तीन थानेदारों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

वहीं, लड़की ने कहा कि आरोपियों द्वारा उसे लगातार तंग परेशान किया जा रहा था और उसे धमकियां दी जा रही थीं। पीड़िता ने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा की मांग करते हुए कहा कि उन्हें आरोपियों से जान का खतरा है।
 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर