हिंदी दिवस पर हिंदी से जुड़ी 10 रोचक तथ्य

hindi diwas

कोलकाता : भारत में हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रुप में मनाया जाता है। हर भारतीय के लिए यह गर्व की बात है क्योंकि इसी दिन भारत के संविधान में हिंदी को आधिकारिक भाषा की तौर पर अपनाया गया था। देश में हिंदी दिवस को काफी धूम-धाम से मनाया जाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हिंदी बड़ी ही तेजी से विश्व की लोकप्रिय भाषा बनती जा रही है। इंटरनेट पर भी हिंदी की मांग काफी बढ़ने लगी है। इतना तो तय है कि हिंदी के विकास से ही हमारा विकास है। केवल भारत ही नहीं बल्कि मॉरिशस, नेपाल, त्रिनिदाद, टोबेगो, गुआना, फीजी आदि देशों में भी हिंदी का प्रचलन है। सन्मार्ग की तरफ से आप सभी पाठकों को हिंदी की हार्दिक शुभकामनायें। तो आइए जाने हिंदी से संबंधित कुछ रोचक तथ्य :

1. हिंदी एक इंडो-यूरोपियन भाषा है जो उत्तर भारत के हिंदुस्तानी से प्रेरित है। 19वीं सदी में हिंदी को मानकीकृत किया गया था। साल 1950 में भारत में हिंदी भाषा को आधिकारिक भाषा का दर्जा मिला।

2. विश्व में हिंदी को सबसे ताकतवर और लाेकप्रिय भाषा की श्रेणी में रखा गया है। दुनिया में 50 करोड़ से भी ज्यादा लोग हिंदी बोलने के साथ-साथ समझ लेते हैं। भारत में लगभग 77 प्रतिशत लोग भाषा को बोलने और समझने में सक्षम हैं।

3. इंटरनेट पर भी हिंदी की मांग काफी ज्यादा हैं। हिंदी उन 7 भाषाओं में आती हैं जिन्हें वेबसाइट बनाने के कम्र में इस्तेमाल किया जाता है और देश में हर पांच में से एक व्यक्ति हिंदी में इंटरनेट का उपयोग करता है।

4. हिंदी की गिनती सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषाओं में की जाती है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने 11 करोड़ 40 लाख डॉलर का बजट केवल हिंदी की शिक्षा पर खर्च करने के लिए आवंटित किया था।

5. अंग्रजी के शब्द जैसे कि चटनी,लूट, बंगलो, गुरु,करमा,योगा,ठग,अवतार आदि कई शब्द हिंदी से लिए गए है। नमस्ते हिंदी का सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला शब्द है।

6. भारत में केवल बिहार ही एक ऐसा राज्य है जिसने साल 1881 में हिंदी को आधिकारिक भाषा के रुप में स्वीकारा था। इससे पहले राज्य में उर्दू आधिकारिक भाषा थी।

7. प्रेम सागर को खड़ी बोली की पहली किताब मानी जाती है जिसे वर्ष 1805 में लल्लू लाल ने लिखी थी। वहीं दूसरी ओर देवकी नन्दन खत्री द्वारा वर्ष 1888 में लिखे गये “चन्द्रकांता” को हिंदी का पहला आधुनिक कार्य माना जाता है।

8. साल 1977 में अटल बिहारी वाजपेयी ने पहली बार संयुक्त राष्ट्र सभा को हिंदी में संबोधित किया था। भारत सरकार ने भी हिंदी को आधिकारिक भाषाओं की श्रेणी में लाने के लिए सालाना 250 कराेड़ रुपए खर्च किए हैं।

9. साल 2000 में सबसे पहले हिंदी वेबपोर्टल का निर्माण किया गया था और गूगल के अनुसार उसके बाद से ही इंटरनेट पर हिंदी का उपयोग काफी तेजी से बढ़ रहा है।

10. हिंदी 40 प्रतिशत से ज्यादा भारतीयों की मातृ भाषा है। हिंदी के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए भारत सरकार ने 1958 में हिंदी व्‍याकरण पर एक किताब प्रकाशित करवाई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hasina

कोलकाता में ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट देखने पहुंचीं शेख हसीना, गांगुली ने किया स्वागत

कोलकाता : भारत और बांग्लादेश के बीच पहला ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट शुक्रवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेला जाएगा। इस ऐतिहासिक मैच की गवाह आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल : पशु चोरी के संदेह में भीड़ ने की दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या

कूचबिहार : पश्चिम बंगाल के कूचबिहार जिले में बृहस्पितवार को पशु चोरी के संदेह में भीड़ ने 2 लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर दी। पुलिस आगे पढ़ें »

ऊपर