हैदराबाद में जन्मा ‘मत्स्य-मानव’, 2 घंटे बाद ही चल बसा, जानें रेयर बीमारी

हैदराबादः हैदराबाद में एक जलपरी जैसा बच्चा पैदा हुआ, दुर्भाग्यवश वह ज्यादा देर जीवित नहीं रह सका, लेकिन ये दुर्लभ नजारा देख कर उस बच्चे का परिवार और डॉक्टर हैरान थे क्योंकि ये अत्यधिक रेयर बीमारी है, जो 10 लाख में से किसी एक बच्चे को होती है। इसमें बच्चे का आधा शरीर इंसान का और आधा शरीर मछली की आकृति का होता है। इसे मरमेड सिंड्रोम कहते हैं। लोग इसे मत्स्य-मानव भी कह रहे हैं। हैदराबाद में स्थित पेटलाबुर्ज मैटरनिटी हॉस्पिटल में यह बच्चा पैदा हुआ। इसे लोग मरमेड बेबी बुला रहे हैं। यानी जलपरी जैसा बच्चा। आधा इंसान और आधी मछली, लेकिन यह बच्चा कुछ घंटों तक ही जीवित रह पाया क्योंकि इसे जन्म संबंधी दुर्लभ बीमारी थी, जिसे मरमेड सिंड्रोम कहते हैं।
मरमेड सिंड्रोम की वजह से बच्चे का ऊपरी हिस्सा तो इंसानों की तरह रहता है लेकिन निचला हिस्सा पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता। इसकी वजह से निचला हिस्सा मछली की पूंछ की तरह दिखाई देता है यानी मछली के पंखों की तरह।
मरमेड सिंड्रोम को साइरेनोमेलिया भी कहते हैं। ये बच्चा पिछले हफ्ते पैदा हुआ था। पैदा होने के बाद दो घंटे तक ही जीवित रहा। अल्ट्रासाउंड जांच में भी इसका पता नहीं चलता कि बच्चा इस बीमारी से ग्रसित है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

यहां अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म होने से 5 मरीजों की मौत, 4 की हालत नाजुक

भोपालः मध्यप्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला रुक नहीं रहा है। जबलपुर में लिक्विड प्लांट में आई खराबी के कारण आगे पढ़ें »

गर्मी में संतुलित आहार लें

ग्रीष्म ऋतु में शरीर को स्वस्थ एवं तन्दुरुस्त रखने के लिए संतुलित आहार ही सर्वोत्तम स्रोत है। यूं तो हर ऋतु में ही स्वास्थ्य का आगे पढ़ें »

ऊपर