वायुसेना सीमा पर बड़ा युद्धाभ्यास करेगी, चीन को दिखाएगी ताकत

Army and Air Force on high alert on country's western border

नई दिल्लीः अरुणाचल प्रदेश में चीन सीमा के पास वायुसेना बड़ा युद्धाभ्यास करेगी। इसमें भारतीय थल सेना की माउंटेन कोर और वायुसेना के करीब पांच हजार जवान शामिल होंगे। यह अभ्यास अक्तूबर माह में होना है। इस दौरान देश के पूर्वी मोर्चे पर वास्तविक युद्ध जैसी स्थिति का निर्माण कर अभ्यास करने के लिए सैन्यबलों को तैनात किया जाएगा।
युद्धाभ्यास में 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के लाइट हॉवित्जर तोप के साथ युद्धक टैंक और पैदल सेना के लड़ाकू वाहनों सहित बख्तरबंद रेजिमेंट शामिल होंगे। इस युद्धाभ्यास का आयोजन चीन के साथ पर्वतीय क्षेत्र में युद्ध के दौरान 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए किया जा रहा है।

तैयारी शुरू
यह चीन की सीमा पर तैनात नव-निर्मित 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर द्वारा अपनी तरह का पहला अभ्यास होगा। भारतीय सेना पांच-छह महीने पहले से तैयारी कर रही है। इस युद्धाभ्यास में तेजपुर स्थित सेना की 4 कोर की टुकड़ियों को अपने क्षेत्र की रक्षा के लिए एक उच्च ऊंचाई वाले स्थान पर तैनात किया जाएगा, जबकि 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के एक ब्रिगेड-आकार के बल (2,500 से अधिक सैनिक) को एयरलिफ्ट किया जाएगा। इस युद्धाभ्यास में भारतीय वायु सेना पश्चिम बंगाल में बगदोगरा से सैनिकों को एयरलिफ्ट करने के लिए अपने परिवहन विमानों सी-17 ग्लोबमास्टर, सी-130जे सुपर हरक्यूलिस और एएन-32 विमानों का उपयोग करेगी। इससे सैनिकों की तैनाती जल्द से जल्द युद्धक्षेत्र में किया जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Dhanush Howitzer

स्वदेशी होवित्जर तोप ‘धनुष’ सेना में शामिल, 50 किमी तक के लक्ष्य को भेदने में सक्षम

नई दिल्ली : भारतीय सेना ने अपनी शक्ति को और बढ़ाने के लिए स्वदेशी होवित्जर तोप 'धनुष' को सेना में शामिल किया है। इसके लिए आगे पढ़ें »

भारतीय बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ घटकर दो साल के निचले स्तर पर आया : आरबीआई

नई दिल्ली : आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक भारतीय बैंकों का क्रेडिट ग्रोथ घटकर लगभग दो साल के निचले स्तर पर आ गया है, क्योंकि आगे पढ़ें »

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

ऊपर