वायुसेना सीमा पर बड़ा युद्धाभ्यास करेगी, चीन को दिखाएगी ताकत

Army and Air Force on high alert on country's western border

नई दिल्लीः अरुणाचल प्रदेश में चीन सीमा के पास वायुसेना बड़ा युद्धाभ्यास करेगी। इसमें भारतीय थल सेना की माउंटेन कोर और वायुसेना के करीब पांच हजार जवान शामिल होंगे। यह अभ्यास अक्तूबर माह में होना है। इस दौरान देश के पूर्वी मोर्चे पर वास्तविक युद्ध जैसी स्थिति का निर्माण कर अभ्यास करने के लिए सैन्यबलों को तैनात किया जाएगा।
युद्धाभ्यास में 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के लाइट हॉवित्जर तोप के साथ युद्धक टैंक और पैदल सेना के लड़ाकू वाहनों सहित बख्तरबंद रेजिमेंट शामिल होंगे। इस युद्धाभ्यास का आयोजन चीन के साथ पर्वतीय क्षेत्र में युद्ध के दौरान 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए किया जा रहा है।

तैयारी शुरू
यह चीन की सीमा पर तैनात नव-निर्मित 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर द्वारा अपनी तरह का पहला अभ्यास होगा। भारतीय सेना पांच-छह महीने पहले से तैयारी कर रही है। इस युद्धाभ्यास में तेजपुर स्थित सेना की 4 कोर की टुकड़ियों को अपने क्षेत्र की रक्षा के लिए एक उच्च ऊंचाई वाले स्थान पर तैनात किया जाएगा, जबकि 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के एक ब्रिगेड-आकार के बल (2,500 से अधिक सैनिक) को एयरलिफ्ट किया जाएगा। इस युद्धाभ्यास में भारतीय वायु सेना पश्चिम बंगाल में बगदोगरा से सैनिकों को एयरलिफ्ट करने के लिए अपने परिवहन विमानों सी-17 ग्लोबमास्टर, सी-130जे सुपर हरक्यूलिस और एएन-32 विमानों का उपयोग करेगी। इससे सैनिकों की तैनाती जल्द से जल्द युद्धक्षेत्र में किया जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

amit shah

अमित शाह बोले- शिवसेना ने फड़णवीस के नाम पर मांगे वोट

मुंबई : गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक हलचल को लेकर शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा है कि आगे पढ़ें »

tejas

स्वदेशी फाइटर जेट तेजस ने पहली बार रात में अरेस्टेड लैंडिंग की, परीक्षण सफल

नई दिल्ली : स्वदेशी हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस ने रात में अरेस्टेड लैंडिंग का परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आगे पढ़ें »

ऊपर