समयपूर्व खत्म हो सकता है संसद का मानसून सत्र

कोविड-19 के चलते 18 दिनों का सत्र जोखिम भरा
नयी दिल्ली : सरकार सांसदों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने के मद्देनजर मौजूदा मानसून सत्र को निर्धारित समय से पहले अगले सप्ताह के मध्य तक खत्म होने की संभावना है। लोकसभा की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में शामिल ज्यादातर पार्टियों के नेताओं ने सत्र को निर्धारित समय से पहले खत्म करने की पैरवी की है। इस समिति की बैठक में सदन में विभिन्न पार्टियों के नेता, सरकार के प्रतिनिधि शामिल होते हैं तथा इसकी अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष करते हैं। मानसून सत्र गत 14 सितम्बर से आरंभ हुआ था और इसका समापन एक अक्टूबर को होना था। सत्र के समापन के संदर्भ में अंतिम निर्णय संसदीय कार्य संबंधी कैबिनेट समिति द्वारा लिया जायेगा।
लोकसभा ने कृषि से संबंधित तीन विधेयकों को पारित कर दिया है। ये विधेयक अध्यादेशों के स्थान पर लाये गये थे। इसके साथ सांसदों के वेतन में कटौती से संबंधित अध्यादेश के स्थान पर लाये गये विधेयक को भी सदन की मंजूरी मिल गयी है। सत्र के दौरान संसद के कुछ सदस्य कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं। विपक्षी दलों ने सरकार से कहा है कि 18 दिनों का सत्र जोखिम भरा हो सकता है। सरकार ने इस दिशा में विचार करना आरंभ कर दिया है। गत 14 सितंबर से सत्र की शुरुआत होने के बाद से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रह्लाद पटेल कोरोना से संक्रमित पाये गये हैं। दोनों सत्र में शामिल हुए थे। कई सांसदों के भी कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोहित बेहतर हो रहे हैं जल्द वापसी करेंगे : पोलार्ड

दुबई : मुंबई इंडियन्स के कार्यवाहक कप्तान कीरोन पोलार्ड ने शनिवार को कहा कि टीम के नियमित कप्तान रोहित शर्मा बायें पैर की मांसपेशियों के आगे पढ़ें »

बल्ला फेंककर गुस्सा जताने वाले गेल पर लगा जुर्माना

अबुधाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच में 99 रन पर आउट होने के बाद गुस्से में अपना बल्ला फेंकने वाले किंग्स् इलेवन पंजाब के आगे पढ़ें »

ऊपर