सांसारिक मोह छोड़ 22 वर्षीय सिमरन बनी बैरागी

नई दिल्लीः सांसारिक जीवन के वैभव को छोड़कर सोमवार को पानीपत (हरियाणा) की 22 वर्षीय सिमरन जैन ने साध्वी बनने का रास्ता अपना लिया बन गईं। जैन भगवती दीक्षा महोत्सव में गौतममुनिजी ने उन्हें नया नाम महासती श्री गौतमीजी दिया। इस अवसर पर केशलोचन सहित दीक्षा की विभिन्न विधियां हुई। इससे पहले जब आयोजन स्थल पर दीक्षार्थी सिमरन जैन पहुंचीं तो उनके सामने इंदौर निवासी नाना तेजप्रकाश जौहरी खड़े थे। वह उनसे मिलीं और मुस्कुराते हुए कहा- नानू आज आखिरी बार मेरे साथ खेल लो। फिर नानू ने भी कंधे पर हाथ रखकर दीक्षार्थी के प्रति अपना स्नेह जताया। इसके बाद दीक्षा की विधि शुरू हुई, जो करीब दो घंटे चली। यहां दीक्षार्थी ने दीक्षा की अनुमति परिजन, समाज और साधु मंडल से ली। इसके बाद केशलोचन सहित विभिन्न दीक्षा की विधियां संपन्न हुईं।
साथ बड़ी संख्या में समाजजन चल रहे थे
इससे पहले वर्धमान श्वेतांबर स्थानकवासी जैन श्रावक ट्रस्ट के तत्वावधान में सुबह सांसारिक परिधान में मुमुक्षु सिमरन का वरघोड़ा निकाला गया। इसमें बग्घी में सवार दीक्षार्थी वर्षीदान करती चल रही थीं।

साथ बड़ी संख्या में समाजजन चल रहे थे। दीक्षा से पहले मुमुक्षु सिमरन ने कहा कि दुनिया देखी और शिक्षा ग्रहण की, लेकिन मुझे संतों का सानिध्य और दीक्षा का मार्ग ही रास आया। सांसारिक बुआ डॉ. मुक्ताश्री की राह पर ही आत्मिक सुकून और परमात्मा की प्राप्ति हो सकती है, इसलिए वैराग्य धारण कर रही हूं। आप सब लोग इसकी अनुमति मुझे प्रदान करें।
अभिनय देखकर कहते थे कि अभिनेत्री बनेगी
सांसारिक बुआ महासती डॉ. मुक्ताश्री बताती हैं कि सिमरन धार्मिक आयोजन में होने वाली विभिन्ना नृत्य-नाटिकाओं और कार्यक्रमों में अभिनय करती थी। उसका अभिनय देखकर सभी कहते थे कि वह अभिनेत्री बनेगी, टीवी सीरियल में काम करेगी, लेकिन जब वह गर्भ में थी, तभी मैंने भैया-भाभी से इच्छा जताई थी कि उसे आत्मकल्याण के लिए दीक्षा दिलाना। सिमरन के पिता का फाइनेंस का काम है और अन्य व्यवसाय भी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Adhir Ranjan Chowdhury

संसद में गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने पर जवाब मागेंगे अधीर रंजन

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में पार्टी गांधी परिवार समेत कई नेताओं की एसपीजी सुरक्षा आगे पढ़ें »

gogoi

आज सीजेआई रंजन गोगोई हो रहे हैं रिटायर, पत्नी के साथ भगवान वेंकटेश्वर के किए दर्शन

त्रिरुमला : शीर्ष न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई रविवार 17 नवंबर यानी आज सेवानिवृत हो रहे हैं। उन्होंने अपनी पत्नी रूपनाजलि गोगोई के साथ आगे पढ़ें »

ऊपर