चुनाव के बाद जेल में होगा चौकीदारः राहुल गांधी

नागपुर: लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे है वैसे-वैसे ‘चौकीदार’ पर चर्चा भी जोर पकड़ रही है। सरकार और विपक्ष अपने तरीके से इसका भरपूर इस्तेमाल कर रहे है। इसी तरह के जुमलों के सा‌थ नागपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी पर ताजा हमला बोलते हुए कहा कि चुनाव के बाद ‘चोरी’ की जांच होगी और ‘चौकीदार’ जेल में होगा। उन्होंने अपनी बात ‘चौकीदार चोर है’ के नारे साथ शुरू की।
कांग्रेस के सत्‍ता में आते ही होगी राफेल की जांच
राहुल ने कहा है कि यदि चुनावों के बाद कांग्रेस सत्ता में आती है तो राफेल सौदे की जांच करवाई जाएगी और ‘चौकीदार’ को जेल भेजा जाएगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने नागपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर ‘चौकीदार चोर है’ के नारे को दोहराया और कहा कि जेल के बाहर दूसरे चौकीदार होते हैं। उन्होंने किसानों की बदहाली और बेरोजगारी की बात करते हुए मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।
राफेल घोटाले में लिया पर्रिकर का नाम
राहुल ने कहा ‘किसी मजदूर के घर के बाहर चौकीदार नहीं होता, लेकिन अनिल अंबानी के घर के बाहर हजारों चौकीदार हैं। चोरी के पैसे की चौकीदारी करने के लिए। कोई छोटी-मोटी चोरी नहीं हुई है। मैं आपको बता रहा हूं कि चुनाव के बाद जांच होगी और जेल में दूसरा चौकीदार होगा। जेल के बाहर दूसरे चौकीदार होते हैं। राहुल ने इस मौके पर देश के पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का नाम लेते हुए दावा किया कि उन्हें राफेल सौदे में भ्रष्टाचार की बात पता थी।
अनिल अंबानी पर जमकर साधा निशाना
राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लड़ाकू विमान खरीद सौदे में बदलाव किया जिसकी वजह से इसके दाम बढ़ गए। उन्होंने कहा, रक्षा मंत्रालय का दस्तावेज बताता है कि नरेंद्र मोदी ने मूल सौदे में बदलाव किया और एक विमान 1600 करोड़ रुपये में खरीदा। राफेल मुद्दे पर अनिल अंबानी को निशाना बनाते हुए गांधी ने कहा कि रक्षा निर्माण में उद्योगपति की विशेषज्ञता नहीं है, उनका व्यवसाय विफल हो गया और उनके पास धन नहीं है, फिर भी उन्हें ‘सबसे बड़ा’ रक्षा ठेका मिला।
न्याय योजना गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक होगी
उन्होंने कहा कि महत्वाकांक्षी ‘न्याय’ योजना को विशेषज्ञों से विचार-विमर्श करने के बाद ही अंतिम रूप दिया गया। गांधी ने कहा कि कांग्रेस अगर सत्ता में आती है तो योजना के तहत गरीब भारतीय परिवारों के खाते में वार्षिक 72 हजार रुपये जमा कराए जाएंगे। राहुल ने कहा कि विशेषज्ञों से बात करने के बाद ही न्याय योजना के तहत गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये वार्षिक देने का वादा किया गया है। कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि योजना को लागू करने से अर्थव्यवस्था प्रभावित नहीं होगी। गांधी ने कहा कि योजना ‘गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक साबित होगी’।
प्रधानमंत्री उम्रदराज
राहुल ने पीएम नरेंद्र मोदी को ‘उम्रदराज’ बताते हुए कहा कि वह जल्दबाजी में रहते हैं। उन्होंने कहा ‘मैं आपके साथ मजबूत रिश्ता कायम करना चाहता हूं, जो लंबे समय तक चले। मैं झूठ नहीं बोलूंगा। मोदी की उम्र हो गई है और वह जल्दबाजी में हैं। इसीलिए वह झूठ बोल रहे हैं।’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी काम करती है, जबकि भाजपा केवल खोखले वादे करती है।
भ्रष्टाचार और बेरोजगारी पर उठाया सवाल
राहुल ने कहा कि इस बार के चुनाव में भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और किसानों की समस्या अहम मुद्दे हैं और मोदी को बताना चाहिए कि इनसे निपटने के लिए पिछले पांच वर्षों में उन्होंने क्या किया। राहुल ने यह चुनौती दोहराई कि भ्रष्टाचार,अर्थव्यवस्‍था और राष्ट्रिय सुरक्षा पर मोदी उनसे 15 मिनट की खुली बहस करें। केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से देश में बेरोजगारी 45 सालों में सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

imran

एफटीएफ में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान, डार्क ग्रे सूची में डाले जाने का डर

पेरिस : पाकिस्तान पर आतंकी वित्तपोषण की निगरानी संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) कड़े प्रतिब्रध लगा सकती है। रिपोर्टस के मुताबिक, आतंकवाद पर कड़ी आगे पढ़ें »

जीएसटी के दायरे में आ सकता है पेट्रोल डीजल

नई दिल्ली : केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने फाइनेंस मिनिस्टमर निर्मला सीतारमण से पेट्रोल, डीजल समेत सभी पेट्रो उत्पा्दों को जीएसटी के दायरे में आगे पढ़ें »

ऊपर