भारत के बताए 22 स्थानों पर कोई आतंकवादी शिविर नहीं : पाकिस्तान

इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत ने हवाई हमले के बाद जिन 22 स्थानों पर आतंकवादी शिविर को नष्ट करने के बारे में जानकारी दी थी, उसने उनकी जांच की है लेकिन उन्हें वहां कोई भी आतंकवादी शिविर नहीं मिला। साथ ही उसने नयी दिल्ली के साथ पुलवामा आतंकवादी हमलों संबंधी जांच के प्रारम्भिक निष्कर्षों को साझा करते हुए यह भी दावा किया कि इस आतंकवादी हमले के संबंध में उन्होंने 54 लोगों को हिरासत में लिया है लेकिन उनका हमले से किसी तरह से संबंध होने का पता नहीं चला है।
54 व्यक्तियों के खिलाफ जांच की जा रही है
विदेश कार्यालय ने कहा कि पाकिस्तान से अनुरोध किए जाने पर इन स्थलों पर यात्रा करने की अनुमति दी गई है। आगे इस कार्यालय ने कहा ‘हिरासत में लिए गए 54 व्यक्तियों के खिलाफ जांच की जा रही है लेकिन पुलवामा हमले से उनके संबंध के बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है।’
22 स्थलों पर यात्रा करने की अनुमति
कार्यालय ने कहा ‘इसी प्रकार भारत ने जिन 22 स्थलों के बारे में बताया था उनकी भी जांच की गई है। वहां इस प्रकार का कोई शिविर नहीं हैं। पाकिस्तान अनुरोध किए जाने पर इन स्थलों पर यात्रा करने की अनुमति देने का इच्छुक है।’ इतना ही नहीं विदेश कार्यालय ने यह भी बताया कि सहयोग करने की प्रतिबद्धता के मद्देनजर पाकिस्तान ने कुछ प्रश्नों के साथ अपनी जांच के प्रारंभिक निष्कर्ष बुधवार को भारत के साथ साझा किए। आपको बता दें कि भारत ने सीआरपीएफ कर्मियों पर 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में किए गए आतंकवादी हमले में जैश ए मोहम्मद की संलिप्तता के ‘विशिष्ट ब्यौरों’ तथा पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठनों के शिविरों के बारे में एक अधिकृत दस्तावेज,डोजियर के रूप में पाकिस्तान को 27 फरवरी को सौंपा था। यह डोजियर पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को सौंपा गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोनी की तरकीब

बहुत समय पहले की एक समुद्र के किनारे कुछ पक्षियों का झुण्ड रहता था जो समुद्री कीड़े -मकोड़े और मछलियां खाकर अपना जीवन निर्वाह करते आगे पढ़ें »

शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया छह पैसे टूटा

मुंबई : घरेलू शेयर बाजार के नकारात्मक रुख और अमेरिकी मुद्रा की मजबूती के कारण बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया आगे पढ़ें »

ऊपर