पुलवामा हमले के बाद पहली बार चली समझौता एक्सप्रेस

नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन रविवार रात 11:10 बजे पुरानी दिल्ली से अटारी के लिए रवाना हुई। हालांकि, इसमें सिर्फ 12 यात्रियों ने ही टिकट बुक कराई। पुलवामा में आतंकी हमले के बाद दोनों देशों में बदले हालात को देखते हुए इसे 28 फरवरी को अगले आदेश तक रद्द कर दिया गया था।अभिनंदन की वापसी के बाद यह निणर्य फैसला
विंग कमांडर अभिनंदन की 1 मार्च को भारत वापसी के बाद समझौता एक्सप्रेस की बहाली का ऐलान 2 मार्च को किया गया था। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि ट्रेन तय वक्त पर रवाना हुई। सोमवार को यह पाकिस्तान से वापसी करेगी। समझौता एक्सप्रेस भारत और पाकिस्तान के बीच सप्ताह में दो दिन चलती है। भारत से यह रविवार और बुधवार को रवाना होती है। वहीं, पाकिस्तान से यह सोमवार और गुरुवार को वापसी करती है। यह ट्रेन लाहौर से बाघा बॉर्डर के नजदीक अटारी और अटारी से पुरानी दिल्ली स्टेशन तक आती है।
कोई कमर्शियल स्टॉपेज नहीं है
समझौता एक्सप्रेस में थर्ड एसी का एक कोच और स्लीपर क्लास के छह कोच होते हैं। दिल्ली से अटारी के बीच ट्रेन का कोई कमर्शियल स्टॉपेज नहीं है। भारत और पाकिस्तान के बीच समझौता एक्सप्रेस का संचालन 1971 के युद्ध के बाद 22 जुलाई 1976 को शिमला समझौते के अंतर्गत शुरू हुआ था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दूरदर्शन में कोरोना से कैमरामैन का हुआ निधन, कार्यालय सील

नयी दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन के 66वें दिन शुक्रवार को दूरदर्शन के कैमरामैन योगेश कुमार के निधन के बाद आगे पढ़ें »

प्रवासी मजूदर हमारे अपने, कोरोना के वाहक नहीं : धनखड़

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने प्रवासी मजूदरों को कोरोना वायरस (कोविड 19) के वाहक के रूप में निरुपति किये जाने पर आगे पढ़ें »

ऊपर