केंद्र सरकार टिक-टॉक ऐप पर बैन लगाए : मद्रास हाईकोर्ट

नई दिल्ली : मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने केंद्र सरकार को निर्देश दिए हैं कि वह पॉपुलर मोबाइल विडियो ऐप टिक-टॉक की डाउनलोडिंग पर बैन लगाए। कोर्ट ने मीडिया से भी कहा है कि वह टिक-टॉक पर बने विडियो का प्रसारण न करे। यह आदेश टिक-टॉक के विडियोज में अश्लील सामग्री की भरमार के बाद दिया गया। कोर्ट ने इस विषय पर केंद्र सरकार से पूछा है कि क्या भारत में ऐसा कानून लाया जा सकता है, जैसा अमेरिका में है? अमेरिकी सरकार ने बच्चों को साइबर क्राइम का शिकार होने से बचाने के लिए चिल्ड्रेन्स ऑनलाइन प्राइवेसी प्रोटेक्शन एक्ट के तहत एक कानून बनाया है। मालूम हो कि वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टिक-टॉक बीते कुछ समय में तेजी लोकप्रिय हुआ है। कंपनी ने पहले इस म्यूजिकली के नाम से लॉन्च किया था। दुनियाभर में इस एप को 100 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। टिक-टॉक पर वीडियो बनाकर डालना आजकल बेहद आम हो चुका है। इसका क्रेज आपको छोटे बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक में देखने को मिल जाएगा। किसी भी पुराने डॉयलॉग और गाने पर आज लोग अपने क्रिएटिव आइडिया को साथ मिलाकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर खूब फेमस हो रहे हैं। लेकिन जैसा कि आप में से अधिकतर लोगों ने देखा ही होगा कि आज मनोरंजन के लिहाज से बनाए गए इस ऐप पर कुछ लोग अश्लीलता का प्रचार-प्रसार भी करने लगे हैं।
104 मिलियन लोग इस्तेमाल कर रहें हैं टिक-टाॅक
चीन में ‘डुईन’ नाम से प्रसिद्ध हुई इस टिक-टॉक ऐप की शुरुआत 2016 के सितंबर में चाइना से ही हुई थी। एक साल बाद इसे विदेशी बाजार में टिक-टॉक के नाम से उतारा गया था। कुछ ही समय में भारत में इस ऐप के फीचर्स को लेकर क्रेज इतना बढ़ा कि आज देश में 104 मिलियन लोगों द्वारा टिक-टॉक का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अब लोगों ने मनोरंजन के नाम पर इस पर अश्लील हरकतें करते हुए वीडियो बनानी शुरु कर दी। इसका चर्चित उदाहरण- ‘इसमें तेरा घाटा’ गाने पर ‘तीन लड़कियों‘ का वो वीडियो है, जिसने काफी सुर्खियाँ भी बटोरी थीं। इसके बाद उनकी वीडियो के जवाब में आई कई टिक-टॉक वीडियो ने तो सभी हदों को धीरे-धीरे पार कर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Ramjan Ali

बीएचयू में जारी विरोध के बीच बेलूर में संस्कृत पढ़ाएंगे मुस्लिम प्रोफेसर

कोलकाता : कोलकाता के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक कॉलेज के संस्कृत विभाग में एक मुस्लिम व्यक्ति को सहायक प्राध्यापक के तौर पर नियुक्त किया आगे पढ़ें »

locket

पश्चिम बंगाल में पैरा शिक्षकों की हड़ताल मुद्दे पर लोकसभा में भाजपा, तृणमूल सदस्यों में तकरार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में पैरा शिक्षकों की हड़ताल के मुद्दे पर लोकसभा में शुक्रवार को भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों के बीच नोकझोंक आगे पढ़ें »

ऊपर