स्मृति ईरानी ने राहुल पर कसा तंज, पूछा- क्या अमेठी सिंगापुर बन गई?

अमेठी : बुधवार को एक तरफ जहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से अपना नामांकन दाखिल किया तो वहीं दूसरी तरफ उनकी प्रतिद्वंदी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उन पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि एक तरफ एक कुशल सरकार (मोदी सरकार) है जिसने न्यू इंडिया बनाने का संकल्प लिया है। वहीं, दूसरी तरफ एक ऐसा व्यक्ति (राहुल गांधी) है जो घोषणाएं करने तक ही सीमित रहता है। स्मृति ने कहा कि राहुल को कभी राष्ट्र के बारे में केंद्रित किया गया होता तो उन्हें पता चलता कि देश का विजन क्या है। राहुल गांधी सिर्फ घोषणा करते हैं, संकल्प नहीं लेते। सवालिया अंदाज में तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो अपने संसदीय क्षेत्र का विकास नहीं कर सकता, वो देश का क्या विकास करेगा। ईरानी ने कहा कि लंबे समय तक सांसद रहने के बावजूद अमेठी का विकास नहीं कर पाए। अब अमेठी को सिंगापुर बनाने का दावा कर रहे है। ईरानी ने कहा कि सच्चाई यह है कि भाजपा के 5 साल के कार्यकाल में अमेठी में काम हुआ है और यहां जो भी विकास है वह भाजपा के कारण है। अमेठी ने यह भी कहा कि वह और उनकी सरकार किसानों, गरीबों और व्यापारियों के साथ हैं। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि वह साथ छोड़कर नहीं भागेंगी बल्कि अपने क्षेत्र के लोगों के हक की लड़ाई उनके साथ रहकर लड़ती रहेंगी। उधर, गुरुवार को यहां से भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी नामांकन करेंगी। बता दें कि राहुल गांधी यहां समय-समय पर अमेठी को सिंगापुर बनाने का दावा करते रहे हैं। राहुल गांधी ने नामांकन से पहले उन्होंने रोड शो कर शक्ति प्रदर्शन भी किया। इस दौरान उनकी बहन प्रियंका गांधी, जीजा रॉबर्ट वाड्रा और उनके दोनों बच्चे रिहान और मिराया भी रोड शो में शामिल रहे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल इस बार दो लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले केरल के वायनाड सीट से भी नामांकन किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर