वाघा रिट्रीट समारोह के ‘वीआईपी पास’ का भंडाफोड़ः वैश्विक आनलाइन कंपनी पर प्राथमिकी

जम्मू-कश्मीरः वाघा सीमा पर लोकप्रिय रिट्रीट समारोह को देखने के लिए लोगों को वीआईपी पास देकर धोखाधड़ी करने वाली कंपनी का भंडाफोड़ हो गया है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की शिकायत पर एक वैश्चिक आनलाइन यात्रा कंपनी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। बीएसएफ ने कंपनी पर आरोप लगाया है कि वह पंजाब स्थित अटारी…वाघा सीमा पर होने वाले लोकप्रिय रिट्रीट समारोह के लिए आगंतुकों को ‘‘वीआईपी पास’’ बेचकर उनसे धोखाधड़ी कर रही थी। यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी।
यह सामने आने के बाद बीएसएफ के पंजाब फ्रंटियर ने दो सितम्बर को एक सार्वजनिक बयान जारी करके कहा, ‘‘बीएसएफ या कोई अन्य एजेंसी जेपीसी अटारी, अमृतसर पर होने वाले रिट्रीट समारोह परेड के लिए आगंतुकों से कोई शुल्क नहीं वसूलती। समारोह के लिए वीआईपी पास की पेशकश करने वाले और इसके लिए शुल्क वसूलने वाले दलालों या ट्रैवेल एजेंसियों से सावधान रहें।’’

निः शुल्क देखा जा सकता है रिट्रीट समारोह
बीएसएफ ने इस महीने के शुरू में पंजाब पुलिस से की गई शिकायत में कहा है कि ‘‘बहुराष्ट्रीय घोटाले’’ जैसे कृत्य ने उसकी छवि ‘‘धूमिल’’ की है क्योंकि प्रतिदिन होने वाले रिट्रीट समारोह को मुफ्त में देखा जा सकता है। बीएसएफ ने साथ ही यह भी कहा कि बीएसएफ कर्मी यह सुनिश्चित करने के लिए पूरा प्रयास करते हैं कि लोग एक पैसा खर्च किये बिना इस समारोह का आनंद उठाएं। पुलिस ने शिकायत को एक प्राथमिकी में तब्दील कर दिया है और इसमें वैश्विक आनलाइन यात्रा एजेंसी ‘एक्सपीडिया ग्रुप’, उसकी सहयोगी इकाइयों और अन्य पर कथित धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया गया है।

ऐसे आया मामला सामने
इसका सबसे पहले पता 31 अगस्त को पंजाब के सीमांत जिले अमृतसर के अटारी में चला था। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि घटना उस समय प्रकाश में आयी जब दिल्ली की एक महिला और तीन अन्य ने 31 अगस्त को बीएसएफ के एक जवान से सम्पर्क किया और कहा कि उसके पास कार्यक्रम में शामिल होने के लिए चार वीआईपी पास हैं और प्रत्येक पास की कीमत 1500 रुपये है। उन्होंने बताया कि जवान को कुछ गड़बड़ी महसूस हुई और उसने अपने कमांडरों को सूचित किया जिन्होंने इस मामले की एक विवेचना शुरू की।

बीएसएफ ने अपनी शिकायत में कहा, ‘‘एफीडिया समूह कंपनी एक वैश्विक ट्रैवेल टेक्नोलॉजी है और वह संयुक्त अटारी जांच चौकी आने वाले यात्रियों को आकर्षित करने के लिए एफीडिया डाट कॉम, चीपटिकेट्स डाट कॉम और टैक्सीबाजार जैसी सहयोगी कंपनियों का इस्तेमाल कर रही है और उनसे अवैध रूप से धनराशि वसूल कर उन्हें अनधिकृत वीआईपी पास या वाउचर मुहैया करा रही है।’’ बीएसफ ने अपनी शिकायत में कहा कि यह एक बहुराष्ट्रीय घोटाला है जिसका संचालन विभिन्न आनलाइन कंपनियां कर रही हैं।

प्रति व्यक्ति 41 अमेरिकी डॉलर का पैकेज
बीएसएफ ने कहा कि यह भी पता चला है कि ये वेबसाइट प्रति व्यक्ति 41 अमेरिकी डॉलर (करीब 2900 रुपये) का एक पैकेज मुहैया कराती हैं जिसमें अमृतसर से अटारी तक का टैक्सी किराया, रिट्रीट समारोह के दौरान बैठने के लिए एक वीआईपी पास और पेय पदार्थ शामिल है।
बाहरी कंपनी हो सकती है। जांच के दौरान बीएसएफ पंजाब फ्रंटियर के अधिकारियों ने पाया कि अवैध वीआईपी पास के लिए जिस सर्वर को भुगतान भेजा गया वह भारत के बाहर स्थित हो सकता है क्योंकि धनराशि जमा कराने के लिए किसी स्थानीय बैंक का खाता मुहैया नहीं कराया गया था। बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अमृतसर या देश के किसी भी हिस्से में कोई एजेंट नहीं हैं इसलिए धोखाधड़ी करने वालों और धोखाधड़ी के शिकार यात्रियों के बीच कोई सम्पर्क नहीं हुआ। इपंजाब पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 420 लगायी है लेकिन बीएसएफ अधिकारियों ने उससे इसमें साइबर अपराध के आरोप भी जोड़ने को कहा है।
यह लोकप्रिय समारोह प्रतिदिन बीएसएफ और उसके पाकिस्तानी समकक्ष पाकिस्तान रेंजर्स द्वारा किया जाता है। इस दौरान भारत और पाकिस्तान शाम के समय अपने अपने ध्वज उतारते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिल्ली के दो स्टेडियम में ट्रेनिंग शुरू, 50 प्रतिशत खिलाड़ियों को ही अनुमति

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) ने खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली में दो स्टेडियमों को खोल दिया है। जवाहरलाल नेहरू और आगे पढ़ें »

टाइगर वुड्स ने गोल्फ खेलकर एक दिन में 152 करोड़ जुटाए

न्‍यूयार्क : कोरोनावायरस से जंग लड़ने के लिए एक चैरिटी गोल्फ टूर्नामेंट किया गया। इसमें अमेरिका के टाइगर वुड्स, पेटन मैनिंग की जोड़ी भी शामिल आगे पढ़ें »

ऊपर