लोकपाल गठित होने के बाद होटल के कमरों में चल रहा है दफ्तर, स्टाफ भी पूरा नहीं

नई दिल्लीः जिस लोकपाल के गठन के लिए अन्ना हजारे का आंदोलन हुआ, हजारों लोग सड़कों पर उतरे, उसी लोकपाल ने जब 8 साल बाद अपना काम शुरू किया तो किसी को पता भी नहीं चला। 23 मार्च को शपथ लेने के 2 हफ्ते बाद शुक्रवार को लोकपाल और सभी 8 सदस्यों की पहली बैठक हुई। यह बैठक किसी दफ्तर में नहीं बल्कि दिल्ली के पांच सितारा होटल में करनी पड़ी। कारण- सरकार की तरफ से अब तक लोकपाल और उनके सदस्यों को दफ्तर न मिल पाना है।
हम जीरो से शुरुआत कर रहे हैं
होटल में लोकपाल जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष से यह सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अभी हम जीरो से शुरुआत कर रहे हैं। होटल में ऑफिस चल रहा है। अभी न हमारे पास आने वाली शिकायतों को निपटाने की कोई तय प्रक्रिया और नियम हैं और न ही स्टाफ हैं। लोकपाल सदस्य सबकुछ तय करने में जुटे हैं। हमें लोकपाल सचिव, जांच निदेशक, अभियोजन निदेशक सहित बाकी स्टाफ मिलने पर काम में और तेजी आएगी।
हो रही है शिकायतों के प्रारूप पर चर्चा
एक अन्य लोकपाल सदस्य जस्टिस दिलीप बाबासाहेब भोंसले ने बताया कि लोग लोकपाल से कैसे शिकायत करेंगे इसको लेकर हम नियम-कानून बना रहे हैं। शिकायत के प्रारूप पर भी चर्चा जारी है। लेकिन यह प्रारूप तभी लागू होगा जब सरकार इसे नोटिफाई करेगी। इस हिसाब से 26 मई को सरकार बनने के बाद जून में ही कुछ हो सकेगा। लोग ऑनलाइन शिकायत भी कर सकेंगे।
‘5 स्टार होटल में दफ्तर पर लोकपाल से आपत्ति जताई थी’
पांच सितारा होटल में दफ्तर चलाने को लेकर जस्टिस भोंसले का कहना है कि होटल में दफ्तर पर मैंने आपत्ति जताई थी लेकिन चेयरमैन ने कहा कि अभी विकल्प नहीं है और खाली भी तो नहीं बैठ सकते थे। उन्होंने कहा कि हमने तो नहीं कहा था कि फाइवस्टार में दफ्तर दिया जाए? मैं यहां खाना तक नहीं खाता। रोज सिर्फ चाय पीता हूं, बिस्किट तक की डिमांड नहीं की।
हमारा मकसद लोकपाल पर भरोसा दिलाना है
यह चर्चा खत्म होते ही जस्टिस भोंसले बोले ऐसा भी कहा जा रहा है कि लोकपाल सदस्यों ने हाईकोर्ट जज के दर्जे की मांग की है। हम ऐसा क्यों करेंगे? लोकपाल कानून में धारा-7 दिखाते हुए उन्होंने कहा कि चेयरमैन को सुप्रीम कोर्ट चीफ जस्टिस और सदस्यों को सुप्रीम कोर्ट जस्टिस के बराबर वेतन, भत्ता व सुविधाएं तो वैसे ही मिलेंगी। ऐसी बातें आने पर दिल दुखता है। हमारा मकसद यह भरोसा दिलाना है कि वाजिब शिकायत लेकर लोकपाल के पास आने वाले लोगों को यहां से न्याय मिलेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टॉस विवाद पर बोले संगकारा- मैं जीता था लेकिन धोनी आवाज नहीं सुन पाए तो दोबारा सिक्का उछाला गया

नयी दिल्‍ली : भारत-श्रीलंका के बीच 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में दोबारा टॉस कराने के मामले में अब जाकर श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा आगे पढ़ें »

ईसीबी ने 55 खिलाड़ियों को अभ्यास शुरू करने को कहा

लंदन : विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन और टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट के अलावा इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 55 आगे पढ़ें »

ऊपर