लॉकडाउन के बीच केंद्र और राज्य सरकार में फिर टकराव

राज्य की धमकी : इस तरह घूमने नहीं देंगे, केंद्र का दावा : आंखों देखी रिपोर्ट बताएगी लॉकडाउन माना गया या नहीं
सोनू ओझा,कोलकाता : केंद्र की भाजपा सरकार और राज्य में ममता सरकार के बीच शीत युद्ध कोई नई बात नहीं है। चुनावी दंगल हो या केंद्रीय नीतियों की बात हो दोनों ही हमेशा आमने-सामने रहे हैं। अभी देश में कोरोना का दौर चल रहा है। जानलेवा यह वायरस तेजी से अपने पैर पसार रहा है।
कोरोना की मजबूत होती गांठ को पूरी तरह खोलने के लिए ही केंद्र सरकार ने देशभर में लॉकडाउन लगा दिया है। सिर्फ इतना ही नहीं इस लॉकडाउन को लोग मान रहे है कि नहीं इस पर भी केंद्र ने बंगाल में अपनी टीम भेजी है। केंद्र के इस फैसले के बाद राज्य के साथ उसका टकराव फिर शुरू हो गया। केंद्र सरकार ने इस पहल को साकारात्मक तरीके से देखने की अपील की है तो राज्य सरकार की आपत्ति है कि बगैर कुछ बताएं आखिर केंद्र की टीम यहां आकर दौरा कैसे कर सकती है। संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्य सचिव ने साफ कहा कि इस टीम के आने का क्या मकसद है, यह स्पष्ट नहीं है। जब तक यह साफ नहीं होगा, उन्हें बंगाल में घूमने नहीं दिया जाएगा।
सोमवार का मुद्दा कोरोना से हटा, टीम पर अटका
सोमवार को सक्रिय कोरोना के रिकॉर्ड मामले पाये गये जिसकी संख्या 54 रही। सरकार के लिए कहीं न कहीं यह खतरे की घं­टी मानी जा रही है क्योंकि इस दिन राज्य में कोरोना का हाल जानने केंद्र की स्पेशल टीम यहां आ पहुंची। इस बीच पूरे दिन कोरोना को छोड़ सरकार का मुद्दा केंद्रीय टीम रहा। सुबह 10.10 बजे केंद्रीय टीम न सिर्फ कोलकाता पहुंच गयी बल्कि यहां घूमना भी शुरू कर दिया। दूसरी तरफ मामले की ​जानकारी मिलते ही केंद्र और राज्य के बीच फोन पर बातचीत भी शुरू हो गयी। मामला इतना गरमाया कि शाम होते-होते मुख्यमंत्री ने नाराजगी भरा पत्र पीएम को भेज दिया।
एक ही सवाल : आखिर आयी क्यों यह टीम
राज्य सरकार ने नाराजगी के साथ केंद्रीय टीम को सवालों के घेरे में ला खड़ा किया है। मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने बताया कि हमसे इस बारे में कुछ भी नहीं पूछा गया बल्कि सीधे हमें बताया गया टीम यहां आ रही है। हम कुछ समझ पाते उसके आधे घंटे के बाद ही दो टीम कोलकाता आ गयी। एक केंद्रीय टीम जलपाईगुड़ी में और दूसरी कोलकाता में बीएसएफ को साथ लेकर घूम रही है।
राज्य ने कहा, हम पर छिपाने का आरोप
मुख्य सचिव ने केंद्र पर आरोप लगाया कि केंद्र ऐसा व्यवहार कर रही है मानो हम कुछ छिपा रहे हैं। बात स्वास्थ्य की होती तो वह राज्य का विषय होता मगर यहां कोरोना महामारी की बात है जो राष्ट्रीय महामारी बनकर आयी है। इसमें केंद्र के साथ राज्य हर व ह सहयोग कर रही है, जो हमसे मांगा जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

यूएस ओपन में भाग लेना संदिग्ध : जोकोविच

बेलग्राद : अपने एड्रिया टूर के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने अपनी आलोचना आगे पढ़ें »

ओलंपिक : प्रत्येक राज्य से एक-एक खेल चुनने को कहा गया है : रीजीजू

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजिजू ने बुधवार को कहा कि सरकार ने ओलंपिक में ज्यादा से ज्यादा पदक हासिल करने की मुहिम के आगे पढ़ें »

ऊपर