रोहित शेखर मर्डर केस: पत्नी अपूर्वा पर गहराया शक, क्या हत्या को हादसा बनाने की कोशिश?

नई दिल्लीः कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और चार बार उत्‍तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे मामला और भी उलझता जा रहा है। मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक कातिल घर का ही है। रोहित शेखर तिवारी के डिफेंस कालोनी घर में कत्ल की रात जितने भी लोग मौजूद थे, वो सभी पुलिस के जांच के दायरे में हैं।

शादी के बाद रिश्तों में आई खटास

रोहित और अपूर्वा की शादी पिछले साल 12 मई को दिल्‍ली के अशोका होटल में हुई। इस समारोह में राजनीति, समाज और कारोबार जगत के कई जाने माने व्यक्ति शामिल हुये थे। इससे एक महीने पहले अप्रैल में दोनों ने सगाई की थी। हालांक‌ि, शादी के तुरंत बाद से ही दोनों के रिश्‍ते प्‍यारपूर्ण तो छोड़ि‍ए, सामान्‍य भी नहीं रह गए। रोहित की मां उज्‍ज्‍वला शर्मा ने उनकी हत्‍या के बाद कई दफा इस बात का खुलासा किया है। उनके अनुसार, शादी के दिन से ही दोनों के रिश्‍तों में खटास आनी शुरू हो गई थी। उज्‍जवला के मुताबिक, इसी साल जून में दोनों तलाक के लिए अर्जी भी डालने वाले थे। लेकिन किस्‍मत ने रोहित को इसके लिए भी वक्‍त नहीं दिया।

किसकी जिन्दगी में ‌था तीसरा इंसान?

जांच की सूई जैसे-जैसे घूम रही है वैसे-वैैसे मामले में नया मोड आते जा रहा है। जांच के मुताबिक, शक की सूई रोहित की पत्नी अपूर्वा की तरफ भी घूम रही है। क्योंकि मौत से महीने भर पहले रोहित और अपूर्वा के बीच काफी झगड़ा हुआ था। झगड़े के बाद गुस्से में अपूर्वा घर छोड़ कर अपने मायके इंदौर चली गई थी। वो 15 दिन पहले ही वापस रोहित के पास आई थी। वहीं कहानी की दूसरी कड़ी में रोहित और अपूर्वा के रिश्‍तों के बीच एक अन्‍य महिला के आने की भी खबर मिली है। यह महिला एनडी तिवारी और उज्‍ज्‍वला के परिवार से जुड़ी हुई बताई जा रही है।

अपूर्वा के कॉल डिटेल्स रिकाॅर्ड से बढ़ा शक

सूत्रों के मुताबिक, मोबाइल कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड से पता चला है कि अपूर्वा ने मंगलवार सुबह 11 बजे अपने मोबाइल फोन से दिल्ली से बाहर रहने वाले एक व्यक्ति को फोन किया था। पुलिस को शक है कि यह फोन अपूर्वा ने किसी जानकार से सुझाव लेने के लिए किया। क्राइम ब्रांच के एडिशनल पुलिस कमिश्नर राजीव रंजन ने सोमवार को मीडिया को दिए बयान में संकेत दिया था कि हत्याकांड की जांच पूरी होने वाली है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।

मौत के वक्त कमरे में मौजूद थी अपूर्वा

राजीव रंजन ने बताया ‌कि उत्तराखंड से वोट डालने के बाद 15 अप्रैल की रात 10 बजे रोहित शेखर तिवारी डिफेंस कॉलोनी स्थित अपने घर सी-329 लौटे थे। कार में उनके साथ रोहित की मां उज्ज्वला शर्मा, सौतेले भाई सिद्धार्थ के ममेरे भाई राजीव और राजीव की पत्नी कुमकुम भी थीं। खाना खाने के बाद रात 11 बजे उज्ज्वला, राजीव और कुमकुम तिलक लेन स्थित घर चले गए थे। इसके बाद रोहित पहली मंजिल पर स्थित अपने कमरे में जाकर सो गए। बराबर वाले कमरे में उनकी पत्नी अपूर्वा भी सो गई थीं। इसके बाद रात 1:30 बजे अपूर्वा भूतल से पहली मंजिल पर स्थित रोहित के कमरे में जाते हुए सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दी हैं। ठीक एक घंटे बाद रात 2.30 बजे वह पहली मंजिल से भूतल पर आते दिख रही हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रोहित की मौत का समय भी सोमवार की रात 1.30 से 2 बजे के बीच बताया गया है। ऐसे में क्राइम ब्रांच के शक की सूई अपूर्वा पर आकर ठहर गई है और उन्हें मुख्य संदिग्ध माना जा रहा है।

संपत्ति के लालच में हत्या का शक

शेयर करें

मुख्य समाचार

बडगाम में आतंकवादियों के छह सहयोगी गिरफ्तार, गोला बारूद बरामद

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर पुलिस ने सोमवार को जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादियों के छह सहयोगियों को गिरफ्तार कर उनके पास से हथियारों और गोला बारूद के साथ आगे पढ़ें »

आज से बढ़ जाएगा एलपीजी सिलेंडर का दाम, जानिए आपके शहर में क्या है नई कीमत

नई दिल्ली : वैश्विक स्तर पर रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद आज देशभर में रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ाए गए आगे पढ़ें »

ऊपर